Naidunia
    Monday, April 23, 2018
    PreviousNext

    स्कूली बच्चों ने बगलामुखी पहुंचकर जाना मंदिर का महत्व

    Published: Thu, 15 Mar 2018 04:06 AM (IST) | Updated: Thu, 15 Mar 2018 04:06 AM (IST)
    By: Editorial Team

    राजगढ़। सरकारी स्कूल मे पढ़ने वाले विद्यार्थियों को स्थानीय संस्कृति, परंपरा और रीति रिवाजो ,एतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहरो और प्रतीको से परिचित करवाने के लिए स्कूली शिक्षा विभाग ने आसपास की खोज कार्यक्रम शुरू किया है । इसके तहत प्रा.वि.रूघनाथपुरा के विद्यार्थियों को सरपंच लालसिंह पवार के आर्थिक सहयोग से बगलामुखी सिद्घपीठ नलखेडा का भ्रमण करवाया । जिसमे मुख्य रूप सरपंच श्री पवार और शाला स्टाफ, 45बच्चों एवं 15 ग्रामवासी उपस्थित रहे।

    वहां जाकर यह जाना बच्चों ने

    स्कूली बच्चों ने सिद्घ पीठ पहुंचकर जाना कि यह जिला शाजापुर म.प्र.में स्थित नलखेडा नगर का धार्मिक एवं तांत्रिक दृष्टि से महत्व है। इस मन्दिर में त्रिशक्ति माँ विराजमान है। ऐसी मान्यता है कि मध्य में माँ बगलामुखी दाये माँ लक्ष्मी तथा बाये माँ सरस्वती है। त्रिशक्ति का मन्दिर भारतवर्ष में कही नही है। मन्दिर में बेलपत्र, चंपा, सफेद आकड़े, आंवले तथा नीम एवं पीपल(एक साथ)पेड स्थित है ।मन्दिर के पीछे लखुन्दर नदी के किनारे कई समाधिया जीर्ण अवस्था में स्थित है। इस मन्दिर में संत मुनियों के रहने का प्रमाण है। मन्दिर के प्रांगण में ही एक दक्षिण मुखी हनुमानजी का मन्दिर एक उत्तरमुखी गोपाल मन्दिर तथा पूर्वमुखी भैरवजी का मन्दिर भी स्थित है । मन्दिर का मुख्यद्वार सिंहमुखी है जिसका निर्माण 18 बर्ष पूर्व कराया था ।

    माँ की कृपा से सिंह द्वार भी अद्वितिय बना है ।

    फोटो 1403 आरएजे 02 राजगढ़। स्कूली विद्यार्थियों ने किया मंदिर का भ्रमण।

    और जानें :  # rajgarh nesw
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें