ब्यावरा। मां की डांट से नाराज होकर घर से भागी एक 15 वर्षीय किशोरी को जीआरपी की टीम ने ट्रेन से पकड़ा है। इंदौर-ग्वालियर इंटरसिटी एक्सप्रेस में पचोर के पास रात करीब 12.30 बजे स्लीपर कोच में अकेली बैठी नाबालिग को देखकर जीआरपी ने उसे अपनी अभिरक्षा में लिया और थाना लाकर उससे पूछताछ की। पूछताछ में किशोरी ने भाई-बहन के आपसी विवाद में मां की डांट से नाराज होकर घर से भागना बताया और कहा कि वह अपने दादा-दादी के पास ग्वालियर जा रही थी। इंदौर हीरानगर थाना क्षेत्र निवासी नाबालिग ने उसका पता और परिजनों के फोन नंबर बताए, जिस पर थाना प्रभारी उमेश चंद्र मिश्रा ने नाबालिग के पिता को रात 1 बजे फोन लगाया और परिजन को बुलाकर बालिका को उनके सुुपुुर्द किया। जीआरपी ब्यावरा के प्रभारी उमेशचंद्र मिश्रा ने बताया कि किशोरी बहुत डरी हुई थी। थाने में पूछताछ की तो उसने कबूला कि वह घर से बिना बताए आ गई थी और ग्वालियर दादा-दादी के पास जा रही थी।