नव जागृति संस्थान ने किया आयोजन, पौधों की सुरक्षा का संकल्प भी लिया

सचित्र एसआरपी 20 पौधारोपण किया गया। फोटोःनवदुनिया।

21 पर्यावरण संरक्षण के बारे में समझाइश देती न्यायाधीश। फोटोःनवदुनिया।

सारंगपुर।नवदुनिया न्यूज

जनपद पंचायत सारंगपुर के ग्राम सुल्तानिया में पर्यावरण महोत्सव के अंतर्गत ग्रामीणों और स्कूली बधो, सारंगपुर न्यायालय के न्यायाधीश, पर्यावरण प्रेमी दल, सामाजिक संगठन, लायंस क्लब के कार्यकर्ताओं ने नव जागृति संस्थान के तत्वावधान में एक साथ 5000 पोधे रोपे। इसके पूर्व ग्रामीणों और बधाों को स्कूल प्रांगण में आयोजित पौधरोपण पर्व पर अपर जिला सत्र न्यायाधीश दिव्यांगना जोशी पांडे ने सभी को कानून की जानकारी देते हुए बताया कि हर कार्य करने के लिए नियम और शर्तें लागू होती हैं। उनके सफल संचालन के लिए बने नियम ही कानून होता है। इसी प्रकार प्रकृति को बचाने के लिए भी कई नियम बने हैं। उन्होंने बताया कि प़ेड- पौधे काटे नहीं, बल्कि लगाएं और पानी, खाद डालकर बड़ा वृक्ष बनाएं। उन्होंने बताया कि हमारे लिए भी कानून ने कई अधिकार और कर्तव्य दिए हैं, जिसका आप सभी पूरी जिम्मेदारी से उसका पालन करते हैं, ठीक वैसे ही सभी के अधिकारियों का भी ध्यान रखना कर्तव्य बनता है।

5 जून को लिया था ग्रामीणों ने संकल्प आज लगाए हर ग्रामीण पोधे

बीते माह जून में ग्रामीणों और समाजसेवियों ने प्रकृति को पुनः हराभरा बनाने के लिए नव जागृति संस्थान के मार्गदर्शन में 14 जुलाई को ग्राम आबादी के अनुपात में पौधारोपण का संकल्प लेकर इसे एक पर्व के रूप में मनाने का संकल्प लिया था, जिसे रविवार को पूरा किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि जिला अपर सत्र न्यायाधीश दिव्यांग्ना जोशी पांडे, विशेष अतिथि रवि पांडेय डिप्टी रजिस्टार राष्ट्रीय विधि विश्व विद्यालय भोपाल, न्यायधीश गोपेश गर्ग, प्रीति जैन, शोभना मीणा, अभिभाषक संघ अध्यक्ष अनिल दीक्षित सारंगपुर, संदीप गुप्ता लायंस क्लब अध्यक्ष इंदौर, विनोद टाले सचिव इंदौर, लायंस क्लब सारंगपुर पूर्व अध्यक्ष बीके शर्मा, पचोर लायंस क्लब के मोहन नागर, वरिष्ठ एडवोकेट ओपी विजयवर्गीय, राकेश पांडेय, रामबाबू नारोलिया, पर्यावरण प्रेमी दल के कार्यकर्ता सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित हुए।

ग्रामीणों और बधाों ने लिया प्रकृति बचाने का संकल्प

न्यायधीशों ने पौधरोपण में ग्रामीणों सहित सभी को संकल्प दिलाया कि हम पेड़ लगाएंगे और उनकी रक्षा करेंगे। क्योंकि आज जिस परिवर्तन के साथ प्रकृति का दोहन हो रहा है यह आने वाले 5-6 सालों में हर जीव के लिए प्राणघातक होगा। इसके लिए इस प्रकार के जन जागृति के कार्यक्रम जरूरी हैं। ग्रामीणों की तारीफ करते हुए कहा कि आपने संकल्प लिया था कि 5000 पौधे आम, नीम, जामुन, गुलमोहर, अमलतास के लगाएंगे, लेकिन यह संकल्प अभी पूरा नहीं हुआ है प्रारंभ हो रहा है। इसके परिणाम दो-तीन साल में आएंगे। इसलिए इन पौधों की अपने बधाों की तरह देखभाल कर प्रकृति को हराभरा बनाने के लिए अन्य को भी प्रेरित करें। सभी अतिथियों ने बधाों को पौधा दिए और इन्हें लगाने के लिए कहा। सरस्वती शिशु मंदिर, गुरु महाराज के बाग में भी अतिथियों ने पौधे लगाए। इंदौर लायंस क्लब ने बधाों को 1-1 पेन देकर इस संकल्प को पूरा करने का आग्रह किया। कार्यक्रम का संचालन हाईकोर्ट अधिवक्ता नवजागृति संयोजक मनीष विजयवर्गीय ने किया व आभार सरपंच देवीसिंह नागर ने किया।