रतलाम। बिलपांक पुलिस द्वारा चोरी व लूट के मामलों में गिरफ्तार मंदसौर व नीमच जिलों के बांछड़ा गिरोह के दोनों आरोपी सदस्यों राहूल पिता मदनलाल बांछड़ा (25) व अजय पिता बंशीलाल (25) दोनों निवासी ग्राम कड़ी आत्री थाना कुकडेश्वर (नीमच) को रिमांड अवधि खत्म होने पर सोमवार को प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी (केएस मेड़ा) न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय ने दोनों आरोपियों को 22 जुलाई तक जेल में रखने के आदेश दिए।

गौरतलब है कि बिलपांक थाना क्षेत्र के ग्राम भाटी बड़ौदिया में किसान कमलेश पाटीदार के यहां अज्ञात बदमाशों ने 30 जून 2014 की रात लाखों रुपए की लूट की थी। बिलपांक पुलिस ने प्रकरण दर्ज विवेचना की तो पता चला कि उक्त वारदात मंदसौर-नीमच जिलों के छह सदस्यीय बांछड़ा गिरोह ने की है। गिरोह के सदस्यों को पता लगाकर पांच दिन पहले आरोपी राहूल व अजय को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ करने पर आरोपियों ने बिलपांक थाना क्षेत्र में पांच वारदातों सहित जिले में चोरी व लूट की 31 वारदातें कबूल की थी। आरोपियों के कब्जे से पुलिस ने 25 लाख रुपए के जेवर, कपड़े, बर्तन, गैस सिलेंडर व अन्य सामान जब्त किया था। आरोपियों को 9 जुलाई शाम न्यायालय में पेश करने के बाद न्यायालय ने 14 जुलाई तक पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश दिए थे। रिमांड अवधि में बिलपांक पुलिस ने अपने थाना क्षेत्र में हुई चोरी व लूट की वारदातों तथा उनके अन्य साथियों के बारे में पूछताछ की। आरोपी राहूल व अजय ने जिले के जावरा शहर, नामली, माणकचौक, स्टेशन रोड व अन्य थाना क्षेत्रों में भी चोरी व लूट की वारदातें करना कबूल की हैं। अब उनसे उक्त थानों की पुलिस प्रोटक्शन वारंट पर रिमांड लेकर पूछताछ करेगी।

अन्य आरोपियों का पता नहीं चला

आरोपी राहूल व अजय ने पूछताछ के दौरान गिरोह के अन्य सदस्यों दिनेश पिता भगतराम निवासी ग्राम तरउ थाना कुकडेश्वर, कैलाश बाछड़ा निवासी ग्राम नीरधारिह थाना नाहरगढ़ (मंदसौर), मोंटी पिता मांगीलाल बाछड़ा निवासी ग्राम जग्गाखेड़ी थाना नई आबादी मंदसौर के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने तीनों आरोपियों की तलाश में उनके घरों व उनके छिपने के संभावित स्थानों पर दबिश दी लेकिन वे नहीं मिले। बिलपांक थाना प्रभारी आरसी कोली ने बताया कि आरोपी दिनेश, कैलाश व मोंटी की तलाश की जा रही है।