-दो-दो हजार रुपए का इनाम था घोषित

रतलाम। नईदुनिया प्रतिनिधि

स्टेशन रोड पुलिस ने दुष्कर्म के मामले के फरार आरोपी चांद खां उर्फ मुन्नाा पिता एहमद खां निवासी खातीपुरा व मुख्तियार उर्फ मुक्का पिता वहीद खां निवासी शेरानीपुरा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की गिरफ्तारी पर एसपी अमितसिंह ने पिछले दिनों दो-दो हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। आरोपियों को रविवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

पुलिस के अनुसार नवंबर 2017 में आरोपी शाहदत पिता चांद उर्फ मुन्नाा 16 वर्षीय किशोरी को बहला-फुसलाकर ले गया था। उसके खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज किया था। बाद में किशोरी को बरामद किया था। किशोरी ने बताया था कि आरोपी शाहदत ने उससे दुष्कर्म किया था व उसके पिता आरोपी चांद उर्फ मुन्नाा और मामा मुख्तियार उर्फ मुक्का पिता वहीद खां ने उससे यह कहकर रिपोर्ट नहीं करने हेतु दबाव डाला था कि रिपोर्ट करने पर बदनामी होगी। मामले में चांद व मुख्तियार को भी आरोपी बनाया गया था। एएसपी राजेश सहाय ने बताया कि चांद व मुख्तियार की गिरफ्तारी पर एसपी अमितसिंह ने दो-दो हजार रुपए का इनाम घोषित किया था। शनिवार को टीआई अजय सारवान, सालाखेड़ी चौकी प्रभारी राजमल दायमा व आरक्षक महेंद्र फतरोड़ ने लक्ष्मीनगर से दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया। आरोपियों की गिरफ्तारी में साइबर सेल के प्रधान आरक्षक लक्ष्मीनारायण सूर्यवंशी व बलराम पाटीदार की भी सराहनीय भूमिका रही।

13आरटीएम-31 : आरोपी चांद खां

13आरटीएम-32 : आरोपी मुख्तियार

घरों पर दबिश, नहीं मिले लूट के दो आरोपी

-गिरफ्तार आरोपियों की रिमांड अवधि खत्म, जेल भेजा

रतलाम। नईदुनिया प्रतिनिधि

लूट के मामलों में फरार चल रहे आरोपी राधे उर्फ राधेश्याम व कान्हा उर्फ कन्हैयालाल के घरों पर पुलिस ने दबिशें दी लेकिन वे नहीं मिले। उधर गिरफ्तार आरोपी परमानंद, सुखदेव व राजकुमार को नामली पुलिस ने रिमांड अवधि खत्म होने पर शनिवार को पुनः न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने तीनों आरोपियों को 25 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

उल्लेखनीय है कि 4 अगस्त 2017 को हाजी रमजान पठान निवासी इंदौर परिवार के साथ कार में अजमेर से इंदौर लौट रहे थे, तभी फोरलेन स्थित मलेनी नदी पुलिया के पास पांच लुटेरे कार का पहिया पंक्चर कर कार में सवार महिलाओं, पुरुषों व बच्चों के साथ मारपीट कर जेवर व 28 हजार रुपए नकद लूटकर लिए थे। इसी प्रकार 3 अक्टूबर 2017 को ग्राम बड़ायलामाता-नांदलेट के बीच माइक्रो फाइनेंस के कर्मचारी कमल मालवीय से मारपीट कर लुटेरे 68 हजार लूट ले गए थे। इन मामलों में पुलिस ने आरोपी परमानंद पिता समरथ (21) निवासी ग्राम बड़ायला चौरासी, राजकुमार पिता बंशीलाल पाटीदार (21) व सुखदेव पिता मांगीलाल (24) दोनों निवासी मावता को गिरफ्तार कर शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया था। न्यायालय ने आरोपियों को 13 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर रखने के आदेश दिए थे। पुलिस ने आरोपियों से उनके फरार साथी राधे उर्फ राधेश्याम पिता गोवर्धन बैरागी निवासी ग्राम मावता व कान्हा उर्फ कन्हैयालाल पिता शंकरलाल कुमावत निवासी ग्राम रणायरा के बारे में पूछताछ की। इसके बाद राधे व कान्हा के घरों पर दबिश दी लेकिन वे नहीं मिले।

0000000000

केरोसिन डालकर युवक ने खुद को आग लगाई

रतलाम। बिलपांक थाना क्षेत्र के ग्राम रेन में शनिवार सुबह दिनेश पिता बद्रीलाल मोरी (22) निवासी ग्राम रेन ने शरीर पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। इससे वह गंभीर रूप से झुलस गया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके पिता बद्रीलाल मोरी ने बताया कि वे खेत पर थे, घर पर दिनेश अकेला था। वह कैसे जला उसे पता नहीं। पुलिस के अनुसार बाद में दिनेश से जानकारी ली गई तो उसने स्वयं केरोसिन डालकर जलना बताया। उसने जलने का कारण नहीं बताया। मामले की जांच की जा रही है।

किशोरी से छेड़छाड़

ताल। नगर के एक मोहल्ले में 15 वर्षीय किशोरी के साथ एक युवक द्वारा छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। पुलिस के अनुसार किशोरी ने शनिवार को थाने पहुंचकर रिपोर्ट की कि आरोपी आशिक पिता अशफाक निवासी काजी मोहल्ला ने उससे 10 जनवरी को छेड़छाड़ कर भाग गया था। वह करीब दो माह से उसका पीछा कर रहा था और उससे मोबाइल नंबर भी मांगे थे। एक बार उसने उसका हाथ भी पकड़ा था। प्रकरण दर्ज कर आरोपी आशिक की तलाश की जा रही है।

जिला जेल में स्वास्थ्य परीक्षण

शिविर, 147 कैदियों की जांच

रतलाम। नईदुनिया प्रतिनिधि

मध्यप्रदेश राज्य एड्स नियंत्रण समिति भोपाल के निर्देशानुसार जिला टीबी (क्षय रोग) नियंत्रण कार्यक्रम के तहत शनिवार को जिला जेल में स्वास्थ्य परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में 147 कैदियों की एचआईवी, सिफलिस व टीबी स्क्रीनिंग कर जांच की गई।

लक्ष्यगत हस्तक्षेप परियोजना संचालक अपूर्व शर्मा ने बताया कि जिला जेल में जिला एड्स व क्षय विभाग अधिकारी डॉ. अभय ओहरी एवं मनोरोग चिकित्सक डॉ. निर्मल जैन के मार्गदर्शन व जेल अधीक्षक आरआर डांगी की अध्यक्षता में स्वास्थ्य परीक्षण शिविर लगाया गया। शिविर में 221 कैदियों को एचआईवी, एड्स, सिफरिस तथा टीबी रोग के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इस दौरान 147 कैदियों की जांच की गई। जांच रिपोर्ट दो दिन बाद आएगी। शिविर में स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ मनीष शर्मा, प्रफुल्ल पटेल, दीपक शर्मा, रामलाल भगौरा, विकास चौहान, टीबी विभाग के दशरथ प्रजापति, शैलेंद्र भूरिया, लक्ष्यगत हस्तक्षेप परियोजना की ज्योति झाला, शालिनी बालेराव आदि ने सहयोग किया।

13आरटीएम-33 : जिला जेल में जांच करते स्वास्थ्य कर्मचारी।