नईगढ़ी। नईदुनिया न्यूज

ग्रामीण क्षेत्र की भोली-भाली जन मानस के जीवन के साथ झोलाछाप डॉक्टर जहां खिलवाड़ कर रहे हैं। वहीं क्षेत्र में नकली दवाओं का कारोबार भी तेजी के साथ संचालित हो रहा है। जिले के नईगढ़ी क्षेत्र में दर्जनों ऐसी अवैध क्लीनिक संचालित हो रही हैं। जिनके माध्यम से झोलाछाप डॉक्टर ग्रामीण क्षेत्र के मरीजों का इलाज बेरोक-टोक कर रहे हैं। बिना जांच पड़ताल के लक्षण के आधार पर दवाइयां देकर मरीजों के जीवन के साथ ऐसे झोलाछाप डॉक्टर खिलवाड़ कर रहे हैं तो वहीं दवाइयों को लेकर भी स्थानीय लोग आरोप लगा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि क्षेत्र में जो भी क्लीनिक और दवा दुकानें संचालित है उसकी आड़ में नकली दवाईयां मरीजों को दी जाती हैं। यही वजह है कि मरीज ठीक होने की बजाय उसकी हालत और बिगड़ रही है। ऐसे मरीजों को बड़े अस्पतालों में लेकर परिजन पहुंचते हैं तो उन्हें पता चलता है कि गलत दवाई के चलते मरीज की हालत इस तरह से हो रही है।

झोलाछाप डॉक्टरों को लेकर समय-समय पर आवाज उठती रही है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने और उनकी दुकानदारी बंद कराने में नाकाम रहा है। अब तो स्थानीय लोग यहां तक आरोप लगा रहे हैं कि स्वास्थ्य विभाग की मिली भगत से ही इस तरह की अवैध क्लीनिक और दवा का कारोबार संचालित हो रहा है। बहरहाल जिला प्रशासन के लिए इस तरह की अव्यवस्था जांच का विषय है और ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने की मांग की जा रही है।

वर्षों पूर्व हुई थी कार्रवाई -राज्य शासन के आदेश व कलेक्टर के निर्देश पर नईगढ़ी अंचल में वर्षों पूर्व छापामार कार्रवाई की गई थी। अभियान चलाकर की गई कार्रवाई में कई फर्जी झोलाछाप ड़ाक्टरों सहित अवैध मेड़िकल स्टोर्स पकड़े गए थे साथ ही पुलिस की मौजूदगी में भारी मात्रा में नकली दवाएं भी जब्त की गई थी। फर्जी ड़ॉक्टरों व मेडिकल स्टोर बकायदा सूची तैयार कर उनके खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए गए थे। लेकिन इस पूरे अभियान को ठंडे बस्ते में ड़ाल दिया गया और चिन्हित किए अवैध कारोबारियों पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। बताया जा रहा है कि नईगढ़ी की एक-दो क्लीनिक व दुकानों को छोड़ दिया जाए तो अन्य अवैध रूप से संचालित हो रही हैं।

यहां फैला है नेटवर्क -जानकारी के अनुसार झोलाछाप ड़ॉक्टरों व नकली दवाओं के कारोबारियों का नेटवर्क दूर-दराज के सैकड़ों गांवों तक फैला हुआ है। क्षेत्र के नईगढ़ी, बंधवा मोड़, हंकरियां, देउगना, अमिरिती, पहाड़ी, शाहपुर, बसिगड़ा, गौरी, बिछरहटा, बरांव, बहुती, मड़ौ, रामपुर, भीर, जुड़मनिया रघुनाथ, खर्रा, लेड़ुआ, चिल्ल, हर्दी, देवरी सेंगरान, देवरिहनगांव, अंकौरी, जिलहड़ी, मौहारी, करही, जौरौट, सेनुआ, देवतालाव शिवमंदिर के पास, सरस्वती शिशु मंदिर देवतालाव के पास, खटखरी, शिवराजपुर, सेंगवार, मौहरिया, कोट, कसियारगांव, सहित अंचल में दो सैकड़ा से अधिक अवैध झोला छाप चिकित्सको की क्लीनिक एवं अमानक स्तर की मेडिकल दुकानों का खुलेआम संचालन हो रहा है।

इनका कहना

सीएमएचओ का प्रभार हमें अभी मिला है। झोलाछाप डॉक्टर ग्रामीण अंचल में अगर क्लीनिक चला रहे हैं तो इसकी जांच की जाएगी। जांच में जो भी दोषी पाया गया उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

डॉ.आर एस पाण्डेय , सीएमएचओ।