आग की लपटों से घिरा युवक शादी के मंडप में पहुंचा

- बेरोजगारी से परेशान युवक ने आग लगाकर दी जान

-छिंदवाड़ा (ब्यूरो)। बेरोजगारी का गम एक युवक को इतना नागवार गुजरा कि युवक ने अपने भाई की शादी के दौरान ही मंडप में मिट्टी तेल डालकर आग लगा ली। जिसके कारण विवाह स्थल में सन्नाटा पसर गया, वहां मौजूद लोगों ने युवक को बचाया, जिसके बाद युवक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उसकी जान नहीं बचाई जा सकी।

पुलिस के अनुसार कन्हरगांव निवासी किशोर पिता परसराम भावरकर (32) के परिजनों ने बताया कि परसराम के छोटे भाई प्रदीप की 12 मार्च को शादी थी। जिसको लेकर शादी की तैयारियां की जा रही थी। बड़ा भाई होने के नाते परिजनों ने किशोर से शादी के लिए कहा लेकिन परसराम ने बेरोजगार होने के नाते शादी से इंकार कर दिया। इस बीच परिजनों ने छोटे भाई प्रदीप भावरकर की शादी 12 मार्च को तय कर दी। शादी की तैयारी के चलते परिवार के सदस्य एवं रिश्तेदार घर में उपस्थित होकर शादी की खुशियां मना रहे थे। तभी 11 मार्च की शाम को घर में मंडप का कार्यक्रम चल रहा था। जिसके चलते रात में रिश्तेदार एवं अन्य लोगों का भोजन पंगत में करवाया जा रहा था। तभी किशोर ने घर से कुछ दूरी पर जाकर खुद को आग लगा ली। आग की चपेट में आया किशोर दौड़ता हुआ मंडप में पहुंचा तो लोगों ने आग पर काबू पाते हुए किशोर को बचाया। इसके बाद गंभीर हालत में जिला अस्पताल लाकर भर्ती कराया गया। जहां लगातार किशोर का उपचार चलता रहा और बुधवार की सुबह करीब 4.30 बजे मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम किया और जांच शुरू कर दी।

अमरवाड़ा पुलिस ने रूकवाया बाल विवाह, दूल्ह सहित चार पर मामला दर्ज

-वरमाला होने से पहले पहुंची पुलिस, जन्म प्रमाण पत्र की पुष्टि के बाद रुकवाया विवाह

-दूल्हे सहित चार लोग पर पुलिस ने किया अपराध कायम

फोटो-2

छिंदवाड़ा (ब्यूरो)। शासन के तमाम प्रयासों के बाद भी बाल विवाह रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला अमरवाड़ा ब्लॉक के लखनावड़ा का है, जहां 16 साल की नाबालिग से विवाह की सूचना मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई की। जिसके बाद शादी रुकवाई गई। लखनवाड़ा में शादी की खुशियां परिवार के सदस्य सहित गांव के लोग मना रहे थे। शादी के चलते हर्रई से बारात भी आई थी। बारात आने के बाद जब रात में शादी की रस्मों के चलते जब दूल्हा-दुल्हन एक दूसरे को वरमाला पहनाने वाले थे कि तभी पुलिस मौके पर पहुंची और शादी रूकवा दी। मंडप में ही पुलिस ने दुल्हन का जन्म प्रमाण पत्र बुलवाया और जांच की तो दुल्हन की उम्र महज 16 साल पाई गई। बाल विवाह होने के चलते तत्काल ही पुलिस ने विवाह रूकवाया और शादी के मंडल में लगा सारा सामान जब्त करते हुए दूल्हा सहित चार लोगों के खिलाफ बाल विवाह अधिनियम का अपराध कायम किया गया। इस मामले में पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया है।

अमरवाड़ा थाना प्रभारी अनिल सिंघई ने बताया कि सोमवार को लखनवाड़ा गांव में बाल विवाह हो रहा है। इस बात की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंची। इस बीच मंडप में दुल्हा और दुल्हन बैठे हुए थे। जहां एक दूसरे को वरमाला पहनाएं जाने की तैयारी की जा रही थी कि तभी पुलिस ने विवाह रूकवाया और दुल्हन की उम्र का प्रमाण पत्र मंगवाया। मंडप में पुलिस के पहुंचने के बाद परिचितों एवं रिश्तेदारों में हड़कंप सा मच गया। इस बीच प्रमाण पत्र की जांच किए जाने के बाद दुल्हन की उम्र करीब 16 साल पाई गई। पुलिस ने कम उम्र की दुल्हन होने के नाते शादी रूकवा दी और हर्रई से आए बारातियों में दुल्हा आकाश पिता शीतल कहार उम्र 22 साल, नाबालिग के पिता राजू कहार, दुल्हा का मामा राधे पिता मुन्नू कहार और प्रकाश उर्फ पप्पू कहार के खिलाफ पुलिस ने बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम की धारा के तहत अपराध कायम किया।