Naidunia
    Wednesday, April 25, 2018
    PreviousNext

    विधिक साक्षरता की दी जानकारी ग्रामीण महिलाओं को

    Published: Thu, 15 Mar 2018 04:11 AM (IST) | Updated: Thu, 15 Mar 2018 04:11 AM (IST)
    By: Editorial Team

    फोटो- 24

    छिंदवाड़ा। परासिया जनपद परिसर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जिला न्यायाधीश एलडी बौरासी के निर्देशन में एवं सचिव विजय सिंह कावछा के संयोजकत्व में चलाया गया। पैरालीगल वॉलेंटियर श्यामल राव ने मध्यप्रदेश विधिक सेवा प्राधिकरण एवं केंद्र शासन द्वारा संचालित योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के साथ विधिक साक्षरता की जानकारी देने के लिए विकासखंड की ग्रामीण महिलाओं की बैठक लेकर उनके मौलिक अधिकारों के प्रति सजग करने के लिए विधिक सेवा प्राधिकरण के अंतर्गत राष्ट्रीय एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की जानकारी विस्तृत रुप से दी गई। वहीं महिलाओं को शासन द्वारा संचालित योजनाओं में दहेज विरोधी अधिनियम 498 ए, पीएनडीटी एक्ट 1994, घरेलू हिंसा अधिनियम 2005, शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2010 , किशोर न्याय बालाकों का संरक्षण अधिनियम 2015, पाक्सो एक्ट 2013, बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006, जैसे अहम मुद्दों पर विस्तृत जानकारी देकर विधिक सेवा प्राधिकरण की योजनाओं के पाम्प्लेट ग्रामीणों को वितरित की गई। सामाजिक कार्यकर्ता शंकरराम प्रजापति ने कहा कि महिलाओं को दी जाने वाली विधिक साक्षरता अपने जीवन में उपयोगी सिद्ध होगी और उन्हे न्याय पाना अब आसान होगा है। बैठक को सफल बनाने में सामाजिक कार्यकर्ता प्रभाकर कवड़कर, रेखा बेलवंशी का सराहनीय सहयोग रहा।

    और जानें :  # rJr"fU mtGh;t fUe =e
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें