भोपाल। शहर वासियों को लिंक रोड़ नंबर एक पर न सिर्फ 'राजा' बल्कि 'रानी' से भी रूबरू होने का मौका मिला। इसके अलावा उन्हें राजकुमार से भी मिलने का मौका मिला। एक से बढ़कर एक चटख रंगों के गुलाब देखकर मन खिल गया। इन फूलों की खूबसूरती देखने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक रविवार को गुलाब उद्यान पहुंचे। गुनगुनी धूप के साथ फूल की दुनिया के साथ समय बिताना सुखद आनंद की अनुभूति दे गया।

मप्र रोज सोसायटी की ओर से जारी 38वीं गुलाब प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इसमें 450 लोगों की एंट्री आई थी, जिसमें सात हजार गुलाब के फूल शामिल थे। इस प्रदर्शनी में निर्णायक के तौर पर कोलकाता के संजय मुखर्जी, दिल्ली के एडवोकेट राहुल कुमार और पुणे रोज सोसायटी के रविंद्र भिड़े शामिल हुए।

पिछले साल की तुलना में कम रहे गमले

मप्र रोज सोसायटी के अध्यक्ष एसएस गद्रे ने बताया कि इस बार पिछले साल की तुलना में गमलों की एंट्री कम हुई है। इस बार करीब 100 गमले कम आए हैं। वहीं फूलों की ज्यादा एंट्री आई है। जोकि पिछले वर्ष से 1000 ज्यादा हैं। उन्होंने बताया कि 'किंग ऑफ द शो' शीर ब्लिस और 'क्वीन ऑफ द शो' समर स्नो को चुना गया।

किंग ऑफ द शो का खिताब सिंगल फूल की कैटेगिरी में दिया जाता है, जबकि क्वीन ऑफ द शो का खिताब गुच्छे वाले फूलों की कैटेगिरी में मिलता है, वहीं प्रिंस ऑफ द शो मिनिएचर कैटेगिरी में और प्रिंसेज ऑफ द शो पॉलीयन कैटेगिरी में दिया जाता है। ऐसे ही रेड रोज, यलो रोज, पिंक रोज, सेंटेड और व्हाइट रोज जैसी कैटेगिरी भी होती हैं