बीना। खिमलासा वितरण केंद्र अंतर्गत 6 गांवों पर 60 लाख से ज्यादा बिजली बिल बकाया होने पर इनका कनेक्शन काट दिया गया है। अब यह गांव पिछले 6 दिनों से अंधेरे में हैं। इतना ही नहीं क्षेत्र के 30 से ज्यादा ऐसे गांव हैं जिन पर डेढ़ करोड़ से ज्यादा की रिकवरी है। दो-चार दिन में इनकी भी बत्ती गुल कर दी जाएगी। यह स्थिति वित्तीय वर्ष का आखिरी माह और लक्ष्य पूरा करने को लेकर अधिकारियों पर डाले जा रहे दबाब के कारण है।

वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर विभागों पर लक्ष्य प्राप्ति को लेकर दबाब है। बिजली वितरण कंपनी में बकाया बिल वसूली को लेकर अधिकारियों, कर्मचारियों के वेतन रोकने तक की चेतावनी दी जा रही हैं। अपनी नौकरी बचाने के लिए अधिकारियों ने उपभोक्ताओं पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है। स्थिति यह है कि क्षेत्र के कई गांव अब बकाया बिल जमा नहीं करने पर अंधेरे में समय बिताने को मजबूर हैं। खुरई संभाग अंतर्गत खिमलासा वितरण केंद्र के छह गांवों की बिजली पिछले छह दिनों से बंद है। इन गांवों पर तकरीबन 67 लाख रुपए बकाया है। इन गांवों में बिजली उपभोक्ताओं को विभाग द्वारा बार-बार बिल जमा कराने के लिए ताकीद किया जा रहा था, लेकिन जब बिल जमा नहीं हुआ तो लाइट काट दी गई। जानकारी अनुसार खिमलासा वितरण केंद्र के सबसे बड़ी पंचायत बसाहरी के बिजली उपभोक्ताओं पर 40 लाख से ज्यादा बिजली बिल बकाया था। यहां से 5 ट्रांसफॉर्मरों को हटा लिया गया, जिससे गांव की आधी आबादी अंधेरे में डूब गई। बसाहरी के अलावा ग्राम करमपुर पर 7 लाख 50 हजार, मुड़िया पर 3 लाख 50 हजार, कुआंखेड़ा पर 5 लाख 50 हजार, ग्राम महेरा पर 4 लाख तथा महेरी गांव पर 7 लाख से ज्यादा बिजली बिल बकाया था। छह दिन बीत गए, इन गांवों की बिजली भी बंद रखी गई है।

आगामी सूची में 30 गांव

बिल रिकवरी को लेकर बन रहे दबाब के चलते बिजली कंपनी खिमलासा के अधिकारियों द्वारा जो दूसरी सूची तैयार की गई है उसमें तकरीबन 30 गांवों के नाम हैं। इन 30 गांवों पर डेढ़ करोड़ से अधिक बिजली बिल बकाया है। अगले सात दिनों में इन गांवों से वसूली नहीं हो सकी तो इनकी लाइट भी कट कर दी जाएगी।

परीक्षा का समय, पढ़ाई प्रभावित

प्रदेश में इन दिनों बोर्ड सहित अन्य कक्षाओं की परीक्षाएं चल रही हैं। स्कूली बच्चों पर पढ़ाई को लेकर दबाब है। पढ़ाई का सही समय भी अल सुबह या रात्रि में ही होता है। लेकिन बिजली गुल होने से इन गांवों के विद्यार्थी अंधेरे में पढ़ाई को मजबूर हैं। आंखों पर दबाव पड़ रहा है और पढ़ाई भी प्र भावित हो रही है।

20 प्रतिशत जमा करें तो चालू हो सकती है बिजली

खिमलासा वितरण केंद्र के कनिष्ठ यंत्री सीबी साहू के अनुसार शासन बकाया बिल के 20 प्रतिशत राशि जमा करने पर कनेक्शन चालू करने की सुविधा दे रहा है। इन गांवों के लोग चाहें तो इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। इसके अलावा 50 प्रतिशत राशि का नियमित भुगतान कर बिजली कनेक्शन चालू करा सकते हैं।