राहतगढ़ (नप्र)। भोपाल से जबलपुर जाते समय मशहूर शायर इमरान प्रतापगढ़ी राहतगढ़ तिराहे पर 10 मिनट रुके। मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड सदस्य आरिफ मसूद भी उनके साथ थे। इस दौरान उपस्थित लोगों के सामने शायराना अंदाज में इमरान प्रतापगढ़ी ने शायरी पेश करते हुए कहा कि 'मेरी सांसों पर तुम्हारा अनगिनत एहसान है, तेरी खुशहाली रहे कहता मेरा ईमान है। मेरी सांसों में तिरंगे की बुलंदी की दुआ, मेरे हिंदुस्तान तुझ पर जान भी कुर्बान है'। इस मौके पर आरिफ मसूद फैंस क्लब के पदाधिकारियों, सदस्यों ने पुष्पमाला पहनाकर इमरान प्रतापगढ़ी एवं आरिफ मसूद का सम्मान किया।

1403 एसजीआर 141 राहतगढ़। सम्मान समारोह के दौरान शायरी सुनाते शायर इमरान प्रतापगढ़ी।

.............