खुरई (नप्र)। पुरानी मंडी में किसानों को असुविधाओं के बीच अनाज बेचना पड़ेगा। किसानों का कहना है कि मंडी में अनाज की आवक अधिक होते ही मंडी में जाम की स्थिति निर्मित होती है। मंडी में पर्याप्त जगह नहीं होने से भूसा मंडी रोड पर हरदम जाम की स्थिति निर्मित होती है। वहीं पुरानी मंडी प्रांगण के अंदर भी हाथ ठेले, बैल गाड़ियों डाक के इंतजार में सुबह से ही खड़ी रहती हैं। किसानों का कहना है कि तेज धूप और छाया का इंतजाम न होने से किसान परेशान होते हैं। धूप से बचने के लिए किसान ट्रॉलियों के नीचे बैठकर समय बीताते हैं। किसान हरप्रसाद का कहना है कि मंडी प्रशासन को चाहिए कि वह व्यवस्थाओं में सुधार करे। धूप से बचने के लिए छाया का इंतजाम के साथ-साथ ठंडे पानी की व्यवस्था भी किसानों को की जाना चाहिए। हरप्रसाद के मुताबिक मंडी में पानी व छांव की व्यवस्था न होने से किसान बड़ी मुश्किल में समय गुजारते हैं। किसान राम सिंह के मुताबिक गत वर्ष मंडी प्रशासन की व्यवस्थाएं बेहद लचर थीं। कई बार डाक भी समय से नहीं हुई। ऊपर से भीषण गर्मी में पानी का इंतजाम न होने से किसानों को होटलों एवं पानी पाउच खरीदकर प्यास बुझाना पड़ी थी। इस साल यह स्थिति न होने इसका ध्यान रखा जाना चाहिए।