पेज 15 की लीड ..

- तहसीलदार से शिकायत कर जांच की मांग की

बीना। नवदुनिया न्यूज

नगरपालिका में हुए गबन के मामले में नपाधिकारी व जनप्रतिनिधियों द्वारा बरती जा रही हीलाहवाली के विरोध में कांग्रेसी पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया है। कांग्रेसी पार्षदों ने एसडीएम के नाम तहसीलदार को सौंपे ज्ञापन में लिखा कि नपा कर्मचारी शहर की जनता की गाड़े पसीने की कमाई का गबन कर रहे हैं। वहीं नगरपालिका आर्थिक संकट से जूझ रही है। पार्षदों ने सात सूत्रीय मांगों को लेकर तहसीलदार को एक ज्ञापन भी दिया। इसमें सफाई, स्वास्थ्य व विकास से जुड़े मुद्दों पर नपा को लापरवाह बताया।

बुधवार की दोपहर 3 बजे कांग्रेस पार्षद अभिषेक बिलगैयां के साथ नेता प्रतिपक्ष संजय सिंह ठाकुर, मधुर ठाकुर, राजाराम अहिरवार, राकेश सेन व अन्य कांग्रेसी नेता नगरपालिका के सामने एकत्रित हुए। शहर में गबन को लेकर चल रही चर्चाओं के साथ कांग्रेसी नेताओं ने भ्रष्टाचार के विरुद्घ आवाज बुलंद करने की बात कही और सभी अन्य कांग्रेसी नेताओं के साथ सामूहिक रूप से तहसील पहुंचे। यहां तहसीलदार कमलेश अग्रवाल को बताया कि नगरपालिका में जलकर की लगभग 9 लाख की राशि का गबन हुआ है। गबन नगरपालिका के एक कर्मचारी ने किया और उसे आश्रय नपाधिकारी ज्योतिसिंह सहित अन्य नगरपालिका के भाजपा समर्थित जनप्रतिनिधि दे रहे हैं। मामले में जब नगरपालिका के एक कर्मचारी ने शिकायत की तो उसे प्रताड़ित किया जा रहा है। पार्षदों ने बताया कि नगरपालिका में जिन कर्मचारियों पर गबन के आरोप हैं, वहीं जांच भी कर रहे हैं। ऐसे मामले की उच्च स्तरीय जांच कर दोषियों के विरुद्घ सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए।

सात बिंदुओं पर भी की चर्चा

कांग्रेस पार्षदों ने गबन के अतिरिक्त सात बिंदुओं पर नपा को लापरवाह बताते हुए कहा कि शहर की सफाई, स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा चुकी है। जगह-जगह गंदगी पड़ी है जो बीमारियों को निमंत्रण दे रही है। इतना ही नहीं शहर की मुख्य सड़क को लेकर भी नपाधिकारी लापरवाही बरत रही हैं। सड़क पर केवल सर्वोदय चौराहे से लेकर गांधी तिराहे तक डामरीकरण हो सका है। जबकि गांधी तिराहे से सागर गेट और झांसी गेट तक अभी भी डामर नहीं बिछाई गई है। जबकि जो कार्य हुआ है उसका भुगतान नगरपालिका कर चुकी है।

केवल मुख्य सड़क पर झाड़ू से शहर साफ नहीं हो सकता

कांग्रेसी पार्षदों ने ज्ञापन में लिखा कि नगरपालिका शहर की मुख्य सड़क पर दिन में दो बार झाड़ू लगवा रही है वहीं गलियों में सप्ताह में एक दिन सफाई हो रही है। यह विसंगतियां हैं। केवल मुख्य सड़क को साफ करने से शहर साफ नहीं हो सकता। ज्ञापन में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराने, फागिंग मशीन का उपयोग करने, शहर के साफ पेयजल उपलब्ध कराने, खाली पड़े प्लाटों पर सफाई कराने, डामरीकरण का कार्य शीघ्र शुरू कराए जाने की मांगें भी की गई हैं। ज्ञापन सौंपने वालों में देवेंद्र कुशवाहा, प्रशांत राय, प्रकाश बजाज, रामकुमार तिवारी, हशमित अरोरा, त्रिवेंद्र सिंह, छोटू पंथी, पारस जैन, मोनू तिवारी, शुभम राय, प्रतीक नामदेव, कौशल सेन, अनुराग सिंह ठाकुर सहित अन्य शामिल रहे।

1403 एसजीआर 151 बीना। तहसीलदार के समक्ष ज्ञापन का वाचन करते कांग्रेस पार्षद।