खुरई। नवदुनिया न्यूज

प्रतिबंध के बाद भी प्लॉस्टिक थैलियों का उपयोग शहर में खुलेआम हो रहा है। दुकानदार शासन के नियमों का उल्लंघन कर ग्राहकों को पॉलीथिन में सामान दे रहे हैं। नगर पालिका द्वारा प्लास्टिक थैलियों में खाद्य वस्तुएं रखकर बेचने वालों पर कार्रवाई न किए जाने से शासन के आदेश का पालन नहीं हो पा रहा है। लोगों के मुताबिक पॉलीथिन के अधिक उपयोग से जहां पर्यावरण को नुकसान हो रहा है, वहीं मवेशी भी इसे खाकर अकाल मौत का शिकार हो रहे हैं। लोगों के मुताबिक सब्जी मंडी नगर पालिका के सामने ही बनी है। यहां थोक विक्रेता से लेकर फुटकर विक्रेता तक पॉलीथिन में ही सब्जी भरकर बेचते हैं। सब्जी सड़ने के बाद पॉलीथिन में ही पैक कर व्यापारी सब्जी कचराघर में फेंक देते हैं। लोगों के मुताबिक नपा के सामने ही प्रतिदिन पॉलीथिन के उपयोग होता है, लेकिन इस पर कार्रवाई न होने से व्यापारी बेखौफ हो चुके है। नगर पालिका द्वारा साल में एक-दो बार कार्रवाई कर औपचारिकता पूरी कर ली जाती है, इसके बाद साल भर पॉलीथिन का उपयोग होता है। सब्जी के अलावा पॉलीथिन की थैली में तरल खादय पदार्थ, दही, दूध, फलों का रस आदि दिए जा रहे हैं। जिनके सम्पर्क में आकर पालीथिन बैग का रंग छूटकर उनमें मिल जाता है, जिसका मनुष्य के स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है।

1403 एसजीआर 145 खुरई। मंडी में पॉलीथिन में भरकर बेचने के लिए रखी गई सब्जी।