- फुटकर विक्रेताओं द्वारा रुचि न दिखाने की वजह से नगर में जहां-तहां लग रही दुकानें

खुरई। नवदुनिया न्यूज

नगर की सब्जी मंडी अव्यवस्थाओं के साए में चल रही है। जहां पर क्षेत्रों से आए किसानों की सब्जियों की बोली तो लगती है लेकिन मंडी के शेड में सब्जी की दुकानें आज तक नहीं पाई गईं। हालात यह हैं कि अब सब्जी मंडी के शेड में दुकानों की जगह पशुओं का बसेरा रहता है।

वर्तमान में बारिश का मौसम है। पूरी मंडी परिसर में कीचड़ ही कीचड़ फैला रहता है। इससे किसानों एवं सब्जी खरीदकर बेचने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। विगत डेढ़ दशक पूर्व परिषद द्वारा सब्जी मंडी को व्यवस्थित करने के उद्देश्य से बनाई गई सब्जी मंडी में लाखों रुपया खर्च कर शेड भी बनाया गया था लेकिन बिगड़ी व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए परिषद ने कोई गंभीर प्रयास नहीं किए। इसी के चलते शेड में दुकानें नहीं पहुंच पाई हैं। हालत ये है कि दुकानें मंडी की जगह नगर के विभिन्न चौराहों, मैन सड़कों लग रही हैं।

सब्जी दुकानों से यातायात प्रभावित

लोगों का कहना है कि नगर की मुख्य मार्गों पर सब्जी की दुकानें लगने से यातायात प्रभावित होता है। पठार, राहतगढ़ नाका, पुरानी टंकी के पास, झंडा चौक, सरकारी अस्पताल के पास, परसा चौराहा, हाईस्कूल के सामने एवं कचहरी के पास मैन रोड पर सब्जी की दुकानों के नए स्थान बन चुके हैं, जिसे हटाने या व्यवस्थित करने में परिषद अक्षम साबित हुई है। इन्हीं सड़कों पर लगीं दुकानों के कारण आए दिन यातायात बाधित होता है।

परिषद नहीं करती कार्रवाई

नगर के प्रमुख मार्गों, चौराहों एवं मैन सड़कों पर फैलकर लगने वाली सब्जी की दुकानों को सड़कों से हटकर लगाने की परिषद ने कोई व्यवस्था नहीं बनाई और न ही कभी इन अव्यवस्थित दुकानों पर कार्यवाही की। इससे सब्जी बिक्रेता बेफ्रिक होकर अपना धंधा चमका रहे हैं।

बरसात में अटका नई सब्जी मंडी का काम

पुरानी गल्ला मंडी में नई सब्जी मंडी बनाने का कार्य चल रहा है, लेकिन बारिश से पूर्व कार्य पूरा होना संभव नहीं है। नगर के लोगों को परेशान होना ही पड़ेगा।

दुकानदारों को निर्देश देंगे

सभी विक्रेताओं को शेड में सब्जी की दुकानें लगाने के निर्देश दिए जाएंगे।

- भैयालाल सिंह बघेल, नपा सीएमओ खुरई

1208 एसजीआर 156 खुरई। मंडी परिसर में घूमते मवेशी।

1208 एसजीआर 157 खुरई। बारिश में मंडी में कीचड़ होने से सभी रहते हैं परेशान।