सागर जिला पेज की लीड ..

- ग्रामीणों ने विरोध जताते हुए शिक्षक को वापस भेजने की मांग की, शिक्षक बोले डीडीओ पावर बीईओ को मिलें

चांदपुर। नवदुनिया न्यूज

चांदपुर हायर सेकंडरी स्कूल की व्यवस्थाएं भगवान भरोसे चल रही हैं। हालत यह है कि त्रेमासिक परीक्षा होने के बाद भी कई विषयों की पुस्तकें भी अभी नहीं खुली हैं। बच्चों की पढ़ाई भी प्रभावित है। गांववालों के मुताबिक बच्चों को स्कूल में रोकने के लिए सख्ती तो की जाती है। स्कूल के गेट पर ताला डाल दिया जाता है, लेकिन पढ़ाई व्यवस्था चौपट पड़ी है।

प्राइमरी स्कूल के शिक्षक को अटैच

जानकारी के मुताबिक चांदपुर हायर सेकंडरी स्कूल के शैक्षणिक व्यवस्था का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि यहां के बच्चों को पढ़ाने के लिए एक प्राइमरी स्कूल के शिक्षक को अटैच कर दिया है। देवरी चौधरी गांव की प्राइमरी स्कूल में पदस्थ सहायक अध्यापक लाखन अहिरवार को वहां से चांदपुर हायर सेकंडरी स्कूल भेजा गया है। सहायक अध्यापक लाखन अहिरवार की योग्यता 12वीं पास व डीएड है। देवरी चौधरी प्राइमरी स्कूल में 70 विद्यार्थियों की दर्ज संख्या पर तीन शिक्षक होने की वजह से सहायक अध्यापक लाखर अहिरवार को यहां अटैच कर दिया गया, लेकिन लोगों का कहना है कि अब तक प्राइमरी स्कूल के बच्चों को पढ़ाने वाले सहायक अध्यापक को यहां अटैच किए जाने से व्यवस्थाएं सुधरने की जगह बिगड़ेगी। जो शिक्षक अभी तक पहले से पांचवीं तक के बच्चों को गिनती व अक्षर ज्ञान देता था, वह हाई व हायर सेकंडरी स्कूल के बच्चों को कैसे पढ़ा पाएगा। लोगों ने इस अटैचमेंट को नियम विरुद्व बताते हुए इसे निरस्त करने की मांग की है।

डीडीओ पावर डीईओ को मिले

जानकारी के मुताबिक चांदपुर हायर सेकंडरी स्कूल का डीडीओ पॉवर गढ़ाकोटा हायर सेकंडरी स्कूल में पदस्थ शिक्षक आईएन तिवारी के पास है। चांदपुर व गढ़ाकोटा की दूरी करीब चालीस किमी होने की वजह से इसके चलते कार्य प्रभावित होते हैं। चादंपुर संकुल केंद्र में स्थाई प्राचार्य न होने की वजह से पहले डीडीओ पावर बीईओ आरपी उपाध्याय के पास थे, लेकिन श्री उपाध्याय के सस्पेंड होने की वजह से डीडीओ पॉवर आईएन तिवारी को दिए गए थे। श्री तिवारी के पास चांदपुर के अलावा अन्य सात स्थानों के डीडीओ पावर हैं। वर्तमान में बीईओ श्री उपाध्याय अपने पद पर बहाल हो गए हैं, ऐसे में अब पुनः डीडीओ पावर उन्हीं को दिए जाना चाहिए। स्थानीय शिक्षकों का कहना है कि डीडीओ श्री तिवारी के पास होने की वजह से बहुत से अनियमितताएं सामने आ रही हैं। चांदपुर से गढ़ाकोटा की दूरी अधिक होने की वजह से शिक्षकों को भी इसके चलते परेशान होना पड़ता है। श्री तिवारी भी दो महीने में एक बार ही चांदपुर स्कूल आते हैं, इससे यहां की शैक्षणिक व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। कई शिक्षक भी मनमाने ढंग से पढ़ाई करा रहे हैं। वर्तमान स्कूल के प्रभारी प्राचार्य एमएल अहिरवार सहित अन्य शिक्षक भी ब्लॉक शिक्षा अधिकारी श्री उपाध्याय को डीडीओ पॉवर दिलाए जाने की मांग कर चुके हैं। ग्रामीणों के मुताबिक भी बीईओ को डीडीओ पॉवर दिए जाएं, जिससे शिक्षा व्यवस्था सुधर सके। ग्रामीणों के मुताबिक शिक्षक मनीष पांडेय का बगैर जांच किए ही वेतन काट दिया गया। इसके अलावा अन्य अनिमितताएं सामने आ रही हैं।

प्राइमरी स्कूल का शिक्षक हासे में नहीं पढ़ा सकता

प्राइमरी स्कूल का शिक्षक हायर सेकंडरी स्कूल में नहीं पढ़ा सकता। यदि इस तरह का कोई अटैचमेंट हुआ है तो यह गलत है। इसकी जांच कर शिक्षक को किसी अन्य जगह भेजा जाएगा।

आरपी उपाध्याय, बीईओ, रहली

1310 एसजीआर 151 चांदपुर। स्थाई संकुल प्राचार्य न होने से सूना पड़ा प्राचार्य कक्ष।