- एक्सप्रेस की टिकट लेकर सुपरफास्ट ट्रेन में कर रहे थे सफर

बीना। नवदुनिया न्यूज

एक्सप्रेस की टिकट लेकर सुपरफास्ट ट्रेन में यात्रा करने वाले दो यात्रियों ने स्टेशन पर तीन टिकट कलेक्टरों के साथ अभद्रता की। उन्होंने बड़ी मुश्किल में जुर्माने के रुपए अदा किए। स्टेशन पर हुए हंगामे के कारण वहां काफी भीड़ एकत्रित हो गई। जानकारी अनुसार भोपाल से खजुराहो जाने वाली ट्रेन क्रमांक 22163 महामना एक्सप्रेस शनिवार की सुबह नियत समय से लगभग 30 मिनट की देरी से बीना स्टेशन पहुंची। बीना का टीसी स्टाफ फुट ओवरब्रिज पर खड़े होकर ट्रेन से उतरने वाले यात्रियों की टिकट चेक कर रहा था। उसी दौरान एक दंपती अपने लगभग 12 साल के बच्चे के साथ ट्रेन से उतरे और ब्रिज पर पहुंचे। चेकिंग स्टाफ ने टिकट मांगा तो उन्होंने जो टिकट दिया वह एक्सप्रेस ट्रेन का था, जबकि जिस ट्रेन से वह यात्री उतरे थे वह सुपरफास्ट थी। उस पर से बच्चे का टिकट भी उनके द्वारा नहीं लिया गया था। ब्रिज पर मौजूद टीसी ने सरचार्ज बनवाने को कहा तो वह यात्री अभद्रता करने लगा। यात्री के साथ मौजूद पत्नी टिकट कलेक्टरों को गाली देने लगी। स्टेशन पर काफी विवाद हुआ, तब दोनों यात्रियों को चेकिंग स्टाफ अपने साथ टीटी रूम में ले गया और जीआरपी के सुपुर्द करने की बात कही। स्टेशन पर हो रहे इस विवाद से बड़ी भीड़ एकत्रित हो गई। यात्री रामकिशन लोईया और उसकी पत्नी कुसुम लोईया अपनी गलती मानने को तैयार ही नहीं थे। वह बार-बार टिकट की बात कर रहे थे, वहीं टिकट एक्सप्रेस ट्रेन की थी। विवाद करने वाले यात्री रामकिशन लोईया ने वीडियो बनाने की बात कही और वह मोबाइल पर वीडियो भी बनाने लगा।

पुलिस के पहुंचने पर बनवाया सरचार्ज

मामले में काफी गरमागहमी होने पर रेलवे स्टाफ ने स्टेशन पर मौजूद जीआरपी स्टाफ को बुलवाया लिया और दोनों यात्रियों को पुलिस के सुपुर्द करने की बात कही। इस पर वह यात्री माने और बतौर सरचार्ज 530 रुपए का भुगतान किया। कार्रवाई करने वाले टिकट कलेक्टरों ने सीटीआई नरेंद्र जाटव, मंजू रैकवार व हीरालाल थे।

1310 एसजीआर 144 बीना। टीसी रूम में बहस करती महिला।