पेज- 4 (ग्वालियर पेज)

------------------------

हेडिंग - बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम सुधारने त्रैमासिक परीक्षाओं की आंसरशीट का हो रहा विश्लेषण

- छात्रों द्वारा त्रैमासिक परीक्षाओं में दिए गए गलत उत्तरों पर दिया जा रहा विशेष ध्यान।

- सर्वाधिक गलत उत्तर वाले प्रश्नों को चिहिंत कर उनका रिवीजन कराया जाएगा।

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम सुधारने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने अभी से प्रयास तेज कर दिए हैं। इसके लिए त्रैमासिक परीक्षाओं से ही छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं की मॉनीटरिंग शुरू कर दी गई है। हाल ही में स्कूल में त्रैमासिक परीक्षाएं सम्पन्ना हुई हैं, जिनका परिणाम भी जारी हो चुका है। अब इन आंसरशीट में ऐसे प्रश्नों का चयन किया जा रहा है, जिनका उत्तर सबसे ज्यादा विद्यार्थियों ने गलत दिया है। ऐसे प्रश्नों की सूची तैयार कर परीक्षाओं के बाद छात्रों की विशेष तैयारी कराई जाएगी। उन्हें कक्षाओं में इन्हीं प्रश्नों का रिवीजन कराया जाएगा, ताकि बोर्ड परीक्षाओं में ऐसे प्रश्न आने पर छात्र वहां गलत उत्तर

लिखकर न आएं।

इस कार्य के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने शिक्षा महाविद्यालयों के स्टाफ को लगाया है। उन्हें 5 स्कूल भ्रमण करने के निर्देश दिए गए हैं। इन स्कूलों में भ्रमण के दौरान डी और ई कैटेगिरी के बधाों की आंसरशीट देख कर उनके द्वारा हल किए गए प्रश्नों का विश्लेषण करेंगे। प्रत्येक संस्थान द्वारा न्यूनतम 100 छात्रों की उत्तरपुस्तिकाओं का विश्लेषण किया जाएगा। प्रश्नवार जानकारी तैयार कर विश्लेषण रिपोर्ट तैयार की जाएगी, जिसमें यह देखा जाएगा कि अधिकतर छात्रों को किन प्रश्नों को हल करने में समस्या आई है। कौन से प्रश्न छात्र हल नहीं कर सके या गलत हल किए। फिर इन पर विशेष फोकस किया जाएगा।

---------------------------------------------