फ्लायर पेज- 2

---------------------------

मोबाइल नेटवर्क से बाहर 6 विधानसभा क्षेत्र के 24 मतदान केंद्र

- वन विभाग के वायलेस के भरोसे चल रही चुनावी तैयारी

- मोबाइल कंपनियों से मतदान के पहले व्यवस्था कराने में जुटा प्रशासन

शत्रुघन केशरवानी, सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

संचार क्रांति के युग में जिले के लगभग दो दर्जन मतदान केंद्र अब भी मोबाइल नेटवर्क से दूर हैं। इन मतदान केंद्रों में फिलहाल वन विभाग के वायलेस के भरोसे चुनावी तैयारी चल रही हैं, लेकिन चुनाव के दौरान होने वाली गतिविधियों की पल-पल की जानकारी मिल सके इसलिए जिला प्रशासन दो मोबाइल कंपनियों से यहां टॉवर सहित अन्य व्यवस्थाओं की तैयारियों में जुट गया है।

जिले के शहरी व ग्रामीण इलाकों में तो मतदान के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए प्रशासन द्वारा जगह-जगह सेल्फी प्वाइंट बनाए गए हैं, लेकिन जिले के ग्रामीण व जंगली क्षेत्रों में रहने वाले लोग अब भी मोबाइल नेटवर्क की पकड़ से दूर हैं। जिले की सीमा में आने वाले इन मतदान केंद्रों में कई वोटर भी हैं जो अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे, लेकिन कुछ केंद्रों में पहुंचते-पहुंचते मोबाइल नेटवर्क फेल हो रहे हैं। पिछले विधानसभा चुनाव की तुलना में इस वर्ष मोबाइल का कार्य और अधिक बढ़ने के कारण अब यहां नेटवर्क कनेक्शन न मिलने की समस्या सामने आ रही है। प्रशासन आनन-फानन में यहां व्यवस्था बनाने में जुट गया है।

वायलेस की मदद से कर रहे काम

मोबाइल सर्विस प्रोवाइडर की कनेक्टिविटी न मिलने के कारण इन मतदान केंद्रों में चुनावी कार्य वन विभाग के वायलेस के टॉवर की मदद से किए जा रहे हैं। यहां मतदान की तैयारी करने में जुटे अधिकारियों को यदि फोन पर बात करना है तो उन्हें थोड़े-थोड़े कार्य और व्यवस्था बनाने के लिए नेटवर्क की तलाश में दूरी तय करना पड़ती है या फिर किसी की छत पर जाकर नेटवर्क तलाशना पड़ रहा है। कुछ स्थान ऐसे हैं, जो जंगली क्षेत्रों में बने हुए हैं जिस कारण यहां चुनावी क्षेत्र में और यहां यदि तत्काल मदद की जरूर हुई तो समस्या खड़ी हो जाएगी। हालांकि कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने ऐसे मतदान केंद्रों में नेटवर्क व्यवस्था के लिए मोबाइल कंपनियों से भी संपर्क किया है।

इन मतदान केंद्रों में नहीं लगते फोन

विधानसभा क्षेत्र - यहां नहीं मिलते नेटवर्क

बीना- पिपरासर, बरोदिया, दुधावनी, छायनकांछी, देवल, चमारी।

खुरई- झींकनी, बछिया गांव

नरयावली-लक्ष्मणपुरा, बहरोल गांव

देवरी - झनाझमरा, छिंगडी छागौरा, अरसी, भर्रई, अरजुंदा नयाख़ेडा, झमारा, रमखिरिया

रहली- खापा खंगौरिया, मोहली, पटना मोहली, मानेगांव, देवलपानी।

नरयावली-हनौता पारीक्षित

---

इनका कहना ....

मोबाइल कंपनियों से किया संपर्क

जिले के लगभग 24 मतदान केंद्र ऐसे हैं जहां मोबाइल नेटवर्क नहीं मिल रहे हैं। इसलिए जियों और बीएसएनएल कंपनी से संपर्क कर यहां व्यवस्था की जा रही है। कुछ केंद्रों में काम शुरू भी हुए हैं बाकी में जल्द व्यवस्था हो जाएगी। फिलहाल यहां वन विभाग के वायलेस टॉवर की मदद से काम किया जा रहा है।

आलोक कुमार सिंह, कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी सागर

-------------------------------------

सांकेतिक फोटो- 1310एसए 24