हाइड्रा की मदद से नगरपालिका कराएगी प्रतिमा का विसर्जन

बीना। नवदुनिया न्यूज

मोतीचूर नदी पर प्रतिमा विसर्जन के लिए जनसहयोग से घाट तैयार किया जा रहा है। घाट लगभग तैयार है और नदी में विसर्जन के लिए नगरपालिका हाइड्रा या क्रेन की मदद लेगी। श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुए रैलिंग भी लगाई जा रही है। श्रीदेव रघुनाथ मंदिर के समीप मोतीचूर नदी के घाट पर हर साल विसर्जन होता आया है। विसर्जन के कारण पानी दूपित हो जाता था और बाद में प्रतिमाओं के अवशेप भी वहीं पड़े रहते थे। बार-बार स्थानीय नागरिकों की मांग के बावजूद नगरपालिका वैकल्पिक इंतजाम नहीं कर पा रही थी। इस साल मोतीचूर नदी संरक्षण अभियान के तहत जनसहयोग से घाट के सौंदर्यीकरण, गहरीकरण का काम किया जा रहा था। इसमें नगरपालिका से विसर्जन के लिए वैकल्पिक इंतजाम करने की मांग की गई थी, लेकिन समय पर वह काम नहीं किया जा सका। इस कारण उसी घाट पर गणेश प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। इस बार देवी प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए जनसहयोग से नगरपालिका सुरक्षित घाट का निर्माण करा रही है। घाट का कार्य लगभग पूर्ण होने वाला है। वहां रैलिंग लगाई जा रही हैं। इससे श्रद्धालुओं की सुरक्षा बनी रहे और सड़क चौड़ीकरण के प्रयास भी किए जा रहे हैं।

1310 एसजीआर 149 बीना। मोतीचूर नदी पर हो रहा घाट निर्माण।

.....................

एससीएसटी सम्मेलन 14 को

बीना। अखिल भारतीय एससीएसटी अधिकार परिपद द्वारा राज्य स्तरीय एससीएसटी सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। परिपद के जिलाध्यक्ष दशरथ अहिरवार ने बताया कि 14 अक्टूबर को भोपाल पॉलीटेक्निक चौराहा पर यह सम्मेलन होगा।

......................

रात्रि में बंद रही शहर की स्ट्रीट लाइट

बीना। नवरात्र के दौरान शहर की स्ट्रीट लाइट रात भर बंद रही। सुबह प्रभात फेरी में शामिल हुए श्रद्धालुओं को भी स्ट्रीट लाइट बंद होने के कारण अंधेरे में यात्रा निकालनी पड़ी।

.............

सड़क निर्माण को लेकर मुस्लिम समुदाय ने लगाई आपत्ति

बीना। आंबेडकर तिराहे से आगासौद रोड तक हो रहे चौड़ीकरण कार्य पर कुछ लोगों ने आपत्ति लगाई और काम भी रुकवा दिया।हालांकि कुछ लोग चौड़ीकरण का समर्थन भी कर रहे थे। नगरपालिका द्वारा आंबेडकर तिराहे से आगासौद रोड मोतीचूर नदी तक सड़क का चौड़ीकरण कराया जा रहा है। चौड़ीकरण का काम नदी किनारे से शुरू किया गया, जहां मुस्लिम समुदाय की कुछ जमीन भी थी। जब कार्य की जानकारी मस्जिद कमेटी अध्यक्ष अल्ताफउद्दीन अब्बासी को लगी तो उन्होंने समर्थन दिया और कहा कि सड़क चौड़ी होने से आवागमन सुलभ होगा और यह जरूरी भी है। शाम 5 बजे कार्य के दौरान कुछ युवक आए और काम रोकने लगे। जानकारी लगने पर सब इंजीनियर शिवराम साहू मौके पर पहुंचे और उन लोगों से बात की। यह लोग चौड़ीकरण नहीं होने देना चाह रहे थे। इंजीनियर ने उन्हें बताया कि सड़क सीमांकन के लिए एसडीएम के पास आवेदन लगाया गया है। जितनी शासकीय भूमि होगी उस पर ही काम किया जाएगा। निजी जमीन या किसी संस्था की जमीन पर रोड का निर्माण नहीं होगा।