- स्कूल से घर आया था, गणित विषय में फेल बताया

- दो बहनों में इकलौता भाई था हर्ष

सागर। नवदुनिया प्रतिनिधि

केशवगंज वार्ड स्थित पर्ल पब्लिक इंग्लिश मीडियम स्कूल के कक्षा 8वीं के छात्र हर्ष रजक उम्र 14 साल ने शनिवार दोपहर स्कूल से घर आकर छत पर बने कमरे में जाकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस घटना से पूरा परिवार सदमे में है। हर्ष परिवार का इकलौता बेटा है। परिजनों का आरोप है स्कूल के शिक्षक की प्रताड़ना से मेरे बेटे ने यह कदम उठाया।

14 साल का हर्ष परिवार में इकलौता बेटा था, उसकी दो बहने हैं। हर्ष केशवगंज वार्ड स्थित पर्ल पब्लिक स्कूल में अंगेजी मीडियम से कक्षा 8वीं की पढ़ाई कर रहा था। काकागंज वार्ड निवासी उसके पिता महेश रजक ठेकेदारी करते हैं। महेश का आरोप है कि स्कूल में गणित विषय पढ़ाने वाले शिक्षक ने टेस्ट में उसे फेल कर दिया था। शिक्षक का कहना था मेरे यहां कोचिंग नहीं पढ़ोगे तो मुख्य परीक्षा में भी फेल कर देंगे। उन्होंने बताया हर्ष के ही स्कूल में मेरा भानजा अजय भी कक्षा 7वीं में पढ़ता है। घटना के बाद उसने बताया गणित विषय के शिक्षक ने टेस्ट में फेल होने पर डांटा था और मुख्य परीक्षा में भी फेल करने की धमकी दी थी। इसी वजह से उसने घर आकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

परिजनों ने देखा था

परिजनों के मुताबिक हर्ष स्कूल से दोपहर एक बजे घर आया था। स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे में वह 11 बजकर 56 मिनट पर स्कूल में था। स्कूल से घर आकर वह ऊपर वाले कमरे में चला गया। कुछ देर बाद उसकी मां सामान उठाने कमरे में गई। वहां का नजारा देखकर वह दहाड़ मारकर विलाप करने लगी। उसकी आवाज सुनकर महेश व उसकी दोनों लड़कियां कमरे में पहुंचीं। बेटे को फांसी के फंदे से लटका देख महेश बेहोश हो गए। पास के लोगों ने घटना की सूचना मोतीनगर थाने में दी। हर्ष को जिला अस्पताल लाया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बेटे की मौत की खबर सुनकर उसकी मां जिला अस्पताल में ही बेहोश हो गर्इ्र। मोतीनगर थाने की एसआई संतोषी ने जिला अस्पताल जाकर पंचनामा कारवाई कर शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी। परिजनों के बयान लेने पुलिस दो दिन बाद मृतक हर्ष के घर जाएगी।

संचालक ने कॉल रिसीव नहीं किया

घटना के संबंध में नवदुुनिया ने स्कूल के संचालक धर्मेंद्र शर्मा से उनके मोबाइल नंबर 94244- 51852 पर बार-बार संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होने कॉल रिसीव नहीं किया। घटना से क्षेत्र के लोगों में रोष व्याप्त है।

--------------

फोटो नंबर 13010एसए 66 सागर। जिला अस्पताल में विलाप करते परिजन, पिता बेटे के चेहरे को निहार रहा।