बंडा। दीपावली के दूसरे दिन बरायठा रोड पर स्थित कारसदेव मंदिर परिसर में कारसेदव बाबा मेला का आयोजन किया गया। जहां कई गांवों के ग्वाल बाल व मौनियां एकित्रत हुए। उन्होंने कारसदेव की पूजा-अर्चना की। मेला में दोपहर से देर शाम तक भीड़ रही। ग्वालों का बरेदी नृत्य देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंचे। वहीं प्रतिपदा पर भगवान गोवर्धन की पूजा के बाद यादव समाज के लोग मौनियां बनते हैं, ये दिनभर बिना बोले ही 12 गांव की मेड़े के लिए पैदल चलकर पहुंचते हैं। इनके चलने और दौड़ने से पैरों में पहने घुंघरूओं की छमछम लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं।

...........................