सतना। नईदुनिया प्रतिनिधि

राह चलते राहगीरों से मारपीट कर मोबाइल लूटने वाले गिरोह का शुक्रवार को पुलिस ने पर्दाफाश किया। पुलिस कंट्रोल रूम में घटना का खुलासा करते एडिशनल एसपी गौतम सोलंकी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों में दो बालिग तथा एक नाबालिग है। गुरुवार को शहर में गश्त के दौरान पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि धवारी चौराहा यात्री प्रतीक्षालय के पास तीन लड़के धारदार हथियार हाथ में लेकर आने-जाने वाले लोगों को डरा धमका रहे हैं। सूचना मिलते ही पुलिस तीनों को हिरासत में लेकर थाने ले आई। पुलिस ने तीनों से कड़ाई के साथ पूछताछ की। गिरफ्तार आरोपितों में दिवस उर्फ आशुतोष गौतम (23) पिता राकेश गौतम निवासी धवारी गली, थाना सिटी कोतवाली व अमोल सिंह (19) पिता राजललन सिंह निवासी धवारी गली, मल्लाहन टोला शामिल हैं। दिवस उर्फ आशुतोष गौतम हाथ में एक धारदार लोहे का बका लेकर आने-जाने वाले लोगों को डरा धमका रहा था तथा आरोपित अमोल सिंह एक लोहे की धारदार कटार पैंट में खोंसकर छिपाये था। दोनों आरोपितों से हथियार बरामद गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने इनके विरुद्घ मामला कायम किया है।

पूछताछ में लूट की घटना की कबूल

पुलिस ने तीनों आरोपितों से लूटे हुए मोबाइल के संबंध में बारीकी के साथ पूछताछ की। आरोपित दिवस गौतम उर्फ आशुतोष गौतम व अमोल सिंह व नाबालिक बालक के द्वारा बताया गया है कि 3 अप्रैल को आरोपित आशुतोष गौतम की बाइक क्रमांक एमपी-19 एमवी 6106 में सवार होकर तीनों शाम तकरीबन 7.30 बजे पन्नानाका स्थित एजेन्सी के पास मोबाइल लूटा था। आरोपितों ने बताया कि साइकिल से दो लड़कियों जा रही थी। तभी बाइक में पीछे बैठा नाबालिग ने लडकी के हाथ से मोबाइल छीनकर पतेरी की तरफ भाग गए थे। लूटे गये मोबाइल की कीमती तकरीबन 7 हजार रुपए थी तथा लूट में उपयोग की गई बाइक आरोपित आशुतोष गौतम की है। पुलिस ने तीनों आरोपियों के कब्जे से 1 बाइक व 6 नग मोबाइल फोन कुल कीमती लगभग 1 लाख रुपए बरामद किये हैं।

सूनसान जगहों पर देते थे घटना को अंजाम

एएसपी गौतम सोलंकी ने बताया कि सभी आरोपित अंधेरे व सूनसान जगहों व रास्तों को चिन्हित करते थे। इस दौरान जिसे भी मोबाइल पर बात करते हुये देखते थे उसे पीछे से झपट्टा मारकर मोबाइल छीनकर फरार हो जाते थे। श्री सोलंकी ने बताया कि आरोपितों से और भी घटनाओं के संबंध में पूछताछ की जा रही है। जिससे और भी घटनाओं का खुलासा होने की संभावना है।

वारदात वाले स्थान

एडिशनल एसपी ने बताया कि आरोपित शहर के स्टेशन रोड, कल्याण पेट्रोल पंप, व्ही मार्ट के पास, प्रेमनगर, रेल्वे कालोनी, फौजदार एजेंसी के पास, सुमित बाजार, रेलवे कॉलोनी में वारदाता को अंजाम देते थे। आरोपितों को गिरफ्तार करने में सिटी कोतवाली टीआई विद्याधर पांडेय, उपनिरीक्षक महेन्द्र सिंह, पीएसआई दिनेश सिंह बघेल, पीएसआई विक्रम आदर्श, सहायक उपनिरीक्षक शोभा नामदेव, प्रधान आरक्षक रावेन्द्र मिश्रा, आरक्षक सुनीता सिंह,अवतारकृष्ण सिंह, आरक्षक बृजेन्द्र पांडेय व साइबर सेल के कर्मचारी शामिल रहे।