Naidunia
    Tuesday, February 20, 2018
    PreviousNext

    नशामुक्ति के बाद नर्मदा की सफाई के अभियान में जुटेगी 'गुलाबी ब्रिगेड'

    Published: Mon, 12 Feb 2018 09:05 PM (IST) | Updated: Tue, 13 Feb 2018 02:34 PM (IST)
    By: Editorial Team
    narmada clean 12 02 2018

    रेहटी (सीहोर)। नशामुक्ति अभियान चला कर चर्चा में आई महिलाओं की गुलाबी ब्रिगेड ने अब नर्मदा को प्रगदूषण मुक्त करने का संकल्प लिया है। नशामुक्ति एवं सफाई अभियान समिति की 'गुलाबी ब्रिगेड की महिलाएं तीन समूहों में नर्मदा घाटों की सफाई करेंगी। समिति की महिलाएं गुलाबी साड़ी पहनकर नशामुक्ति और स्वच्छता अभियान तीन वर्षों से चला रही हैं। इसलिए उसे गुलाबी ब्रिगेड का नाम दिया गया है। गुलाबी ब्रिगेड ने रविवार को सफाई अभियान की शुरूआत आंवलीघाट से की है।

    समिति की अध्यक्ष सुशीला निमोदा ने बताया कि तीन वर्षों से अभियान चल रहा है। इस अभियान का शुभारंभ नशा मुक्ति से किया था। बाद में नर्मदा घाटों की सफाई का काम महिलाओं ने अपने हाथ में लिया है रविवार को आंवलीघाट में 5 हजार महिलाओं ने संकल्प लिया है कि वे नर्मदा में सफाई रखेंगी और गंदगी करने वाले लोगों को समझाइश देंगी। साथ ही जागरूक करने के लिए अभियान चलाएंगी।

    क्या है योजना गुलाबी बिग्रेड की

    महिला समिति की महिलाएं तीन समूहों में घाटों पर पहुंचेंगी। पहले समूह की महिलाएं घाट पर कपड़े, नारियल की बूच, गंदगी अन्य सामग्रियों को उठाकर ट्राली में डालेंगी। दूसरे समूह की महिला घाट पर नहाने वाले आरती करने वाले नारियल प्रसाद चढ़ाने वाले श्रद्धालुओं को समझाइश देंगी और उन्हें जागरूक करने का काम करेंगी।

    वहीं तीसरे समूह की महिलाएं ध्वनि विस्तारक यंत्रों से अपनी बातों को लोगों तक पहुुंचाएंगी, जो लोग नर्मदा घाटों पर गंदगी कर रहे हैं, उनके पास जाकर गांधीवादी नीति के तहत उन्हें एक फूल देकर समझाइश देंगी और उनके द्वारा फैलाया गया कचरा उठाकर डस्टबिन में डालेंगी। यह अभियान रविवार से प्रारंभ किया है।

    इस अभियान में 5 हजार महिलाएं अलग-अलग समूह में अलग-अलग घाटों पर एक साथ अभियान चलाएंगी, जिससे नर्मदा घाटों पर तेजी से जागरूकता बढ़े और नर्मदा कम से कम प्रदूषित हो। यह कठिन अभियान होने के बाद भी इस चुनौती का सामना करने के लिए महिलाएं तैयार हैं।

    स्थानीय लोगों का लेंगी सहयोग

    धनकोट निवासी पुनिया बाई, सुक्की बाई, गुलाब बाई, बिमला बाई, गौरा बाई और जमना बाई ने इस अभियान का शुभारंभ किया है। क्योंकि महिला समिति का यह अभियान नशामुक्ति से प्रारंभ हुआ था और सीएम शिवराज सिंह चौहान ने महिलाओं की मांग पर ही नर्मदा 5 किमी क्षेत्र में शराब विक्रय करने और पीने पर प्रतिबंध लगाया था। अब प्रदूषण रोकने के लिए यह जागरूकता अभियान महिलाओं ने हाथ में लिया है।

    सराहनीय प्रयास

    महिलाओं का यह अभियान सराहनीय कदम है। इसका स्थानीय ग्राम पंचायत और स्थानीय लोग पूर्ण रूप से समर्थन कर रहे हैं।

    सुरेश विश्वकर्मा, सरपंच मरदानपुर

    प्रशासन भी करेगा सहयोग

    नर्मदा को प्रदूषण मुक्त करने में महिलाओं को प्रशासन की ओर से जैसा भी सहयोग चाहिए, प्रशासन करने को तैयार है। अब प्रशासन भी महिलाओं के जागरूकता अभियान में सहयोग करेगा।

    राजेंद्र जैन, तहसीलदार रेहटी

    हर घाट पर चलेगा अभियान

    यह जागरूकता अभियान आंवलीघाट से प्रारंभ किया है। इसे प्रत्येक घाट पर चलाया जाएगा। अभी बुधनी विधानसभा क्षेत्र के घाटो पर और बाद में नर्मदा के सभी घाट पर चलाने की महिलाओं की योजना है।

    सुशीला निमोदा, अध्यक्ष नशा मुक्ति महिला समिति

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें