सिवनी,नईदुनिया प्रतिनिधि। बिजली कंपनी ने डेम नंबर सब डिवीजन तीन (सिंचाई विभाग) के एसडीओ बीएस उइके के मकान की बिजली काट दी है। छपारा सिंचाई विभाग कालोनी का करीब 3.60 लाख रुपए बिल बकाया है। बकाया बिल नहीं देने पर बिजली कंपनी ने यह कार्रवाई की।

एसडीओ सिवनी स्थित वैनगंगा सिंचाई कालोनी में रहते हैं। वहां पर बिजली कंपनी ने यह कार्रवाई की है। एसडीओ ने आपत्ति जताई है। उन्होंने बताया कि बिजली कंपनी की यह कार्रवाई गलत है। मेरे निवास की बिजली बिल नियमित जमा होती है। इसके बाद भी कनेक्शन काटा जाना सही नही है। सिंचाई कालोनी छपारा का जो बिजली बिल बकाया है। उसमें कई तरह की विसंगतियां हैं। बिजली कंपनी इसका पता नहीं लगा रही है।

एसडीओ ने बताया कि आरईएस विभाग को जो कमरे आफिस में दिए गए थे। उनका बिल बकाया है। हमारे कार्यालय से ऐरीकेशन स्थित पीडब्ल्यूडी के आरआई क्वार्टर बनाए गए हैं उनका बिजली बिल बकाया है। ये सभी अलग अलग हैं लेकिन बिजली कंपनी बिल कालोनी के साथ जोड़कर भेज रही है। इसी बकाया के चक्कर में बिजली कंपनी ने मेरे निवास की बिजली काटी है।

बिजली कंपनी के अधिकारियों का यह तरीका गलत है। मेरे निवास का समय पर बिल भुगतान किया गया है। ऐसा कहीं भी नियम में नहीं है। यदि किसी शासकीय कार्यालय का बिल बकाया होगा तो उस कार्यालय के अधीनस्थ कर्मचारी के निवास की बिजली काटी जाएगी। बिजली कंपनी की यह कार्रवाई गलत है। एसडीओ ने बताया कि काटने के दिन ही देर रात बिजली जोड़ दी गई। उधर बिजली कंपनी छपारा का कहना है कि यह कार्रवाई अधीक्षण अभियंता बिजली कंपनी के निर्देश पर की गई है।