सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

अचानक बिगड़े मौसम के बाद रविवार को जिले के लखनादौन विकासखंड के आधा दर्जन गांव और बरघाट विकासखंड के तीन गांवों में हुई ओलावृष्टि से फसलें तबाह हो गई हैं। किसानों के मुताबिक ओलावृष्टि से फसलें खेतों में बिछ गई हैं। इसके अलावा जिले के अन्य विकासखंडों में तेज हवा तूफान के साथ बारिश हुई। बारिश से मौसम में ठंडक आ गई है।

15 मिनट हुई ओलावृष्टि

जिले के लखनादौन क्षेत्र अंतर्गत घूरवाड़ा, सुक्कम, लिंगपानी, घोघरी सहित एक दर्जन गांवों में रविवार शाम 4 से 4.30 बजे के बीच 15 मिनट बेर के आकार के ओले गिरे। बरघाट विकासखंड के अरी, सुकला और गुर्रापाठा में करीब 10 मिनट बेर के आकार के ओले गिरे। अरी क्षेत्र में तेज हवा, तूफान व बारिश के साथ ओले गिरे।

50 फीसदी नुकसान

घूरवाड़ा। जिले के लखनादौन क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में हुई ओलावृष्टि से चना, गेहूं की फसल को 50 फीसदी नुकसान होने के बाद किसानों ने कही है। ग्राम पंचायत सुक्कम मोहगांव की सरपंच प्यारीबाई और लिंगपानी पंचायत सरपंच लक्ष्मीबाई ने बताया है कि ओलावृष्टि से किसानों की फसलों को नुकसान हुआ है। क्षेत्र के किसानों ने प्रशासन से नुकसानी का जल्द से जल्द सर्वे कराकर मुआवजा दिलाए जाने की मांग की है।

गाज गिरने से एक मृत

मुंगवानी रोड स्थित तिघरा गांव में आसमानी बिजली गिरने से एक किसान की मौत हो गई। लखनवाड़ा थाना में पदस्थ एसआई देवकरण डहेरिया ने बताया है कि तिघरा गांव निवासी मस्तराम पिता काशीराम बघेल (52) रविवार शाम खेत में चने की फसल काट रहा था।

इसी दौरान आसमानी बिजली गिरने से वह बुरी तरह झुलस गया। गंभीर अवस्था में मस्तराम को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अरी के पास उसरी गांव में आसमानी बिजली गिरने से अशोक पिता फूलचंद बघेल के घर के बाहर बिजली गिरने से बैल की मौत हो गई।

कटी फसल को नुकसान

जिले के धूमा सहित अधिकांश क्षेत्रों में किसानों ने चना और मसूर की फसल की कटाई कर ली है। काटी गई फसल खलिहान में खुले आसमान के नीचे रखी है। रविवार शाम हुई बारिश से धूमा क्षेत्र में अनेक किसानों की खुले में रखी मसूर व चना की फसल भीगने से नुकसान की बात किसानों ने कही है।

तेज हवाओं के साथ बारिश

मुख्यालय सहित आसपास के क्षेत्रों में रविवार शाम करीब 5 बजे तेज हवा व तूफान के साथ बारिश हुई। मुख्यालय में करीब 10 मिनट तक हल्की बारिश हुई। बरघाट में शाम 5.30 बजे आधे घंटे तेज बारिश दर्ज की गई। लखनादौन, आदेगांव, धूमा, पलारी, मुंगवानी, कुरई सहित आसपास के इलाकों में हल्की बारिश हुई।

चमारीखुर्द में हल्की बारिश

चमारीखुर्द। रविवार शाम साढे चार बजे बारिश हुई। बारिश के पहले तेज हवाएं भी चली। लगभग 15 मिनट हुई बारिश ने मौसम में ठंडक घोल दी । बारिश ज्यादा देर न होने के चलते फसलों को कोई नुकसान नही हुआ। किसानों में प्रभातसिंह ठाकुर, ललित शर्मा आदि ने बताया कि इस समय खेतों में गेहूं व चना की फसल कटने की कगार पर है। ऐसे में यदि ज्यादा देर बारिश होती है या ज्यादा देर तेज हवाएं चलती है तो फसलो को बहुत अधिक नुकसान हो सकता है।

फूड पाइजनिंग से एक बालिका मृत, 35 गंभीर

सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

जिला मुख्यालय से 80 किमी दूर सुनवारा में फूड पाइजिनिंग के बाद गांव के करीब 35 लोगों की हालत बिगड़ गई है। इसमें ज्यादातर 4 से 15 साल के स्कूली छात्र शामिल हैं। इलाज के दौरान 11 वर्षीय एक बालिका शोमिका पिता रामकृपाल मर्सकोले की मौत हो गई है। पांचवी कक्षा की छात्रा शोमिका सहित अन्य छात्रों ने दो दिन पहले फेरी वाले की फुल्कियां खाई थी। इसके बाद देर रात फुल्की खाने वाले छात्रों को उल्टी दस्त व पेट दर्द की शिकायत होने लगी।

रास्ते में छात्रा ने दम तोड़ा

हालत बिगड़ने के बाद सुनवारा में तैनात एएनएम व एमपीडब्ल्यू ने शनिवार को मरीजों का मेडिकल चेकअप किया और उन्हें दवाईयां दी। धनौरा स्वास्थ्य केंद्र के बीएमओ डॉ एनकेएस बेलिया ने बताया कि जांच के दौरान गंभीर हालत में पाए गए तीन बच्चों को लखनादौन सिविल अस्पताल रेफर कर दिया गया है। जहां उनका इलाज जारी है। वहीं सुनवारा निवासी शोमिका को शनिवार दोपहर परिजन धनौरा स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए थे। यहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए डॉक्टरों ने बीमार बालिका को अस्पताल रेफर कर दिया गया जहां रास्ते में बालिका की मौत हो गई।

यादव परिवार के ज्यादा बच्चे

बीएमओ डॉ बेलिया ने बताया कि धनौरा के पंचायत और खैरमाई मोहल्ला में रहने वाले यादव परिवार के ज्यादातर बच्चे उल्टी, दस्त और पेटदर्द का शिकार पाए गए हैं। जांच के दौरान मौसमी बीमारी से पीड़ित व्यक्तियों को भी दवाईयां दी गई हैं। बीएमओ ने बताया कि सभी बीमार छात्रों व लोगों की स्थिति स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण में है। प्रारंभिक जांच में छात्रों ने दो दिन पहले स्कूल से लौटने के बाद फेरी वाले की फुल्की खाने के बाद स्वास्थ्य खराब होने की बात बताई है। अनुमान लगाया जा रहा है कि फूड पाइजिनिंग की वजह से छात्रों को उल्टी दस्त व पेट दर्द की शिकायत हुई है। बीएमओ ने बताया कि पीएचई विभाग की टीम से क्षेत्र में लगे हैंडपंप के पानी का भी लैब टेस्ट कराया जा रहा है। इसके अलावा उल्टी के सेम्पल स्वास्थ्य विभाग ने जांच के लिए एकत्रित किए हैं। लैब से रिपोर्ट मिलने के बाद छात्रों के बीमार होने का सही कारण स्पष्ट हो सकेगा।

विभाग ने लगाया कैम्प

बीएमओ डॉ बेलिया ने बताया कि बच्चों व लोगों के बीमार होने की खबर मिलते ही धनौरा से स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सुनवारा में कैंप लगा दिया है। मेडिकल जांच के दौरान नए मरीज सामने नहीं आए हैं। बीएमओ के मुताबिक उल्टी दस्त की शिकायत के बाद इलाज कराने में मरीजों के परिजनों ने देरी की इसी वजह से मरीजों की संख्या बढ़ गई। अब स्थिति पूरी तरह से स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण मे है।

इन बच्चों की बिगड़ी हालत

य बीमार हुए बच्चों में सुनवारा निवासी बबीता पिता रतिराम (10), धर्मवीर पिता विजय (12), कन्हैया पिता सुनील यादव (12), आशुतोष पिता रतिराम यादव (13), शिवा पिता बड़गू यादव (15) ,शिवानी पिता बड़गू यादव (13), अभिलाष पिता सुरेश यादव (16), लुधान पिता रामधन यादव (5), संगीता पिता बड़गू यादव (31), संगीता पिता मानसिंह यादव (7), मनीषा पिता सतीराम यादव (17), अजय पिता सोनू यादव (12), माही पिता भूरा यादव (5), महिमा पिता भूरा यादव (3), बबीता पिता रतिराम यादव (10), नीतू यादव (22), मधु पिता गणेश यादव (15), शुभम पिता रामकुमार प्रजापति (13), आशीष पिता भजनलाल यादव (8), साधना पिता भजनलाल यादव (14), करिश्मा पिता गौरीशंकर यादव (8), माही पिता संतराम यादव (6), सोनिया पिता संतराम अहिरवार (12), कपिल पिता गौरीशंकर यादव (8), झीनो यादव (60), लखन पिता शिवलाल ठाकुर (34), रंजीता पिता सतीराम यादव (16), शंकर पिता सुभाष यादव (7), ईजा यादव (42), ब्रजोबाई यादव (35), हेमलता यादव (30), संतकुमारी यादव (18), सदियाबाई यादव (60), सीमा पिता ब्रजकुमार यादव (9), सुलोचना यादव शामिल हैं।

य इसके अलावा मृतक शोमिका की बड़ी बहन शिवानी मर्सकोले (18), शिवानी पिता महेश यादव (14), निधि पिता भजनलाल यादव (10) को लखनादौन सिविल अस्पताल रेफर किया गया है, जिनका इलाज जारी है।

गौ तस्करी का फरार आरोपित गिरफ्तार

सिवनी। कोतवाली पुलिस ने गौ तस्करी के फरार आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। आरोपित को बरघाट के बोरीकला गांव से गिरफ्तार किया गया है। टीआई अरविंद जैन ने बताया कि गौ वंश प्रतिषेध अधिनियम में फरार आरोपित अनवर उर्फ अनवरुल पिता सिद्दीकी हसन (40) हड्डी गोदाम निवासी को बोरीकला से पुलिस ने बीती रात गिरफ्तार किया है। 12 जनवरी को कोतवाली के सीलादेही बाईपास पर ट्रक वाहन क्र एमएच 49 0297 से पुलिस ने 36 गाय बैल जब्त किए थे। इस मामले में ट्रक चालक दीपक सिरसाम बाड़ीवाड़ा, मोहम्मद जफर हड्डी गोदाम, रकीब खान बोरीकला, सफीकउल्ला खान हड्डी गोदाम, नईम खान जनता नगर व राहुल मालवीय बारापत्थर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है। इस प्रकरण में फरार आरोपित अनवर उर्फ अनवर उल हसन को कोतवाली टीआई अरविंद जैन के निर्देशन में प्रधान आरक्षक संजय, आरक्षक सुधीर, बालमुकुंद, राकेश ने गिरफ्तार किया है। अनवर के खिलाफ जिले के थाना धूमा, छपारा, लखनादौन में भी गौ वंश से संबंधित कई मामले दर्ज है। थाना धूमा से अनवर के खिलाफ स्थाई गिरफ्तारी वारंट भी कोर्ट ने जारी कर रखा है। गौवंश से जुड़े अपराधों में शामिल अनवर के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई प्रस्तावित की जा रही है।

एसडीओ ने रुकवाया गुणवत्ताहीन कार्य बगैर वायब्रेटर चल रहा था कंक्रीटीकरण

सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

घंसौर विकासखंड के सरोरा में बगैर वायब्रेटर चल रहे नहर के वाटर पैसेज निर्माण कार्य को जल संसाधन विभाग के सहायक यंत्री ने बंद करवा दिया है। वाटर पैसेज की पुलिया निर्माण में बगैर कंक्रीटीकरण के सीमेंट के पाइप बिछाये जाने की शिकायते मिल रही थी वही निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार कंपनी व्दारा वायब्रेटर और दूसरे उपकरण का इस्तेमाल नही किया जा रहा था। तय मापदंडो के विपरीत पुलिया में चल रहे कंक्रीटीकरण का मुद्दा नईदुनिया ने प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

इस मामले में सिंचाई विभाग के सहायक यंत्री सुदेश उइके ने स्थल निरीक्षण कर कम गहराई पर नहर के लिए बनाये जा रहे वाटर पैसेज को तोडकर फिर से बनाने के निर्देश दिये है। एसडीओ ने बताया कि हार्डरॉक होने के कारण वाटर पैसेज की पुलिया खुदाई में दिक्कतें आ रही हैं। निर्माण एजेंसी व्दारा कंक्रीट का बेस किये बगैर सीमेंट पाइप लगा दिये गये थे जिन्हें फिर से तय मापदंड के मुताबिक बेस कर लगाने के निर्देश दिये गये है। इस मामले में संबंधित उपयंत्री राजेन्द्र पटेल को सुधार कार्य कराने के लिए कहा

गया है।

गौरतलब है कि 355 हेक्टर जमीन को सिंचित करने सरोरा में तीन गांव के करीब ढाई सौ किसानों के लिए पांच करोड की लागत से बांध और नहर का निर्माण किया जा रहा है। 330 मीटर लंबी और 5 किमी लंबी नहरों का निर्माण होना है। पहले चरण में ही नहर निर्माण में गड़बड़ी सामने आने के बाद सहायक यंत्री ने ठेकेदार कंपनी को सुधार करने के सख्त निर्देश दिये है।

खेत में मिला युवक का शव

सिवनी। खेत में युवक का शव संदिग्ध हालत में पड़ा मिलने पर पुलिस ने फिलहाल मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है। मृतक के परिजनों ने हत्या की आशंका व्यक्त करते हुए कार्रवाई की मांग की है। लखनवाड़ा थाना के ढाना गांव निवासी पूनाराम नेमीलाल वर्मा (30) गत दिवस गांव के शिवचरण सनोड़िया के खेत में संदिग्ध हालत में लाश मिलने पर पुलिस ने शव परीक्षण करा परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। इस संबंध में मृतक की पत्नी रामसखी ने बताया कि 16 मार्च को दोपहर लगभग 3 बजे उसका पति पूनाराम गांव के धनीराम पिता नंदू वर्मा व उसके पुत्र शेखर वर्मा के साथ ट्रेक्टर से पाइप छोड़ने उनके खेत गया था जहां से वह देर शाम तक घर नही लौटा तो उसने गांव में पूछताछ कर कुछ लोगों के साथ पति की तलाश में निकली तो शिवचरण सनोड़िया के खेत में उसकी लाश मिली। इसकी सूचना उन्होंने पुलिस को दी कि उसके पति की धनीराम व उसके पुत्र शेखर ने हत्या कर दी है। लखनवाड़ा थाना में पदस्थ एसआई देवकरण डेहरिया ने बताया कि मृतक के शरीर में करंट के निशान पाए गए हैं। वही पास ही बिजली का तार भी मिला है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

नहीं हो रही सफाई

सिवनी। शहर के संजय वार्ड, भगतसिंह वार्ड में नियमित सफाई नहीं होने से क्षेत्रवासियों में आक्रोश व्याप्त है। इन वार्डों के लोगों ने नगरपालिका से नियमित सफाई कराने की मांग की है।

घंसौर स्टेशन में गहराया जलसंकट, यात्री परेशान

घंसौर। नईदुनिया न्यूज

आदिवासी अंचल घंसौर मुख्यालय को गांव-गांव व दूर दराज इलाकों से जोड़ने वाले घंसौर रेलवे स्टेशन में जलसंकट अभी से गहराने लगा है। सफर पर निकलने वाले यात्रियों को खासी परेशानी हो रही है। घंसौर स्टेशन में पानी सप्लाई करने वाला इकलौता बोरबेल मार्च के पहले हफ्ते में ही सूख गया है। इससे यात्रियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। यात्रियों की पानी जैसी मूलभूत अवश्यकता भी रेलवे पूरा नहीं कर पा रही है। स्टेशन में यात्रियों की सुविधा के लिए लगाए गए नल सूखे नजर आ रहे हैं। वहीं यात्रियों को जरूरत पूरी करने पानी के लिए यहां वहां भटकना पड़ रहा है।

स्थानीय निवासियों व यात्रियों ने रेलवे के अधिकारियों को स्टेशन में पानी की व्यवस्था कराने की मांग की है। जबलपुर से नैनपुर के मध्य पड़ने वाले घंसौर स्टेशन से प्रतिदिन हजारों यात्री सफर करते हैं। नैनपुर से जबलपुर के बीच सबसे बड़ा स्टेशन होने के बावजूद यात्रियों को जरूरी सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं।

सालों लंबे इंतजार के बाद जबलपुर नैनपुर ब्राडगेज को पिछले वर्ष चालू कर दिया गया। जबकि वर्तमान में छः ट्रेनों का इस रूट पर सफल संचालन भी हो रहा है। घंसौर क्षेत्र की लाइफलाइन रेलगाड़ी से प्रतिदिन हजारों छात्र, व्यापारी, महिलाएं व बीमार अपने ईलाज के लिए नैनपुर व जबलपुर की यात्रा करते हैं । ऐसे में स्टेशन में पानी की व्यवस्था न होने से यात्रियों को कई परेशानियां हो रही हैं।

लगाई व्यंजन प्रदर्शनी

सिवनी। पोषण पखवाड़ा अंतर्गत विविध कार्यक्रम आयोजन किया जा रहा है। विकासखंड घंसौर के महिला बाल विकास परियोजना अंतर्गत सेक्टर बिनोरी के आंगनबाड़ी केंद्र पौंडी में पोषण पखवाड़ा अंतर्गत हाट बाजार में व्यंजन प्रदर्शनी लगाई गई। प्रदर्शनी में पूरक पोषक आहार के विभिन्न व्यंजनों के साथ पौष्टिक भोजन आदि की प्रदर्शनी लगाई गई। सेक्टर पर्यवेक्षक अनीता इनवाती ने लोगों को पोषण जागरूकता संबंधित जानकारी दी। साथ ही विभागीय जानकारी दी। आंगनबाड़ी केंद्र पौंडी में सामूहिक मंगल दिवस मनाया गया। इसमें सभी कार्यकर्ता मौजूद रही।

नवीन सब्जी मंडी प्रांगण में ही संचालित होगी दुकानें

सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

एसडीएम हर्ष सिंह की अध्यक्षता में सब्जी मंडी व्यवस्थाओं को लेकर बैठक आयोजित की गई। इसमें नपा के प्रभारी सीएमओ, मंडी सचिव, कोतवाली थाना प्रभारी, यातायात प्रभारी व अन्य सबंधित अधिकारियों की उपस्थिति रही।

बैठक में सर्व सहमति से निर्णय लिया गया कि 18 मार्च से नगर पालिका परिषद के पास संचालित पुरानी थोक सब्जी मंडी में किसी प्रकार की सब्जी का विक्रय नहीं किया जाएगा। सभी व्यापारी अपनी दुकाने नागपुर रोड स्थित नवीन थोक सब्जी मंडी में ही लगाएंगे। साथ ही सब्जी के सभी प्रकार के वाहन बायपास रोड व छिंदवाड़ा चौक से नवीन सब्जी मंडी पहुंचेगे। पुरानी सब्जी मंडी में वाहनों का प्रवेश निषेध रहेगा। उल्लंघन करने वाले वाहनों के परमिट निरस्त करने की कार्यवाही होगी।

व्यापारियों ने जताई सहमति

सिवनी थोक फल व्यापारी संघ के सचिव मो हैदर सहित फल व्यापारी राजकुमार शेंडे, पीरू खां, श्यामभाई इत्यादि ने जिला प्रशासन व कलेक्टर प्रवीण सिंह अढ़ायच द्वारा शहर विकास व सौंदर्यीकरण के लिए उठाए गए कदमों पर सहमति जताई है। थोक फल व्यापारियों का कहना है कि पुरानी सब्जी मंडी के नए स्थान पर जाने से लोगों को जाम की दिक्कतों से निजात मिलेगी।

बिना प्रेम के पूजन, भजन, साधना सब आडंबर मात्रः ओमशंकर

सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

महाकालेश्वर बोरदई में चल रही संगीतमयी श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिवस में भगवान श्री कृष्ण का जन्मोत्सव श्रद्घा व उत्साह पूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर वृंदावन से आए बालव्यास ओमशंकर महाराज ने कहा कि द्वापर नंदबाबा के महल में कृष्णजन्म महोत्सव मनाया गया था, लेकिन हम सभी पर बाबा भोले की आसीम कृपा है, कि उनकी इस पावन धरा में परब्रम्ह परमात्मा जगदीश्वर जो कि साक्षात आनंद स्वरुप हैं उनका जन्म महोत्सव हम हर्षोल्लास पूर्वक मना रहे हैं। भागवत कथा से भक्त में सदगुणों का विकास होता है, वह काम, क्रोध, लोभ, भय से मुक्ति मिलती है एवं धर्म एवं संसकृति के रक्षणार्थ ईश्वर प्रकट होते हैं। महाराज ने कथा में कहा कि ईश्वर को सिर्फ प्रेम ही प्यारा है। बिना प्रेम के पूजन, भजन, यम, नियम, साधना सब आडंबर मात्र है। कहा कि यदि ईश्वर के प्रति यदि सधाा स्नेह है, तो ईश्वर भक्तों के लिए असम्भव से असंभव वस्तु को देने में समर्थ हैं।

बाल लीलाएं बताई

महाराज ने भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए धर्म,अर्थ,काम व मोक्ष की महत्ता पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि 84 लाख योनियां भुगतने के बाद मानव देह की प्राप्ति होती है। इसलिए इस देह को उपयोग व्यर्थ कामों में न करके जनकल्याण व ईश्वर भक्ति में समर्पित कर दे। इस मौके पर भगवान श्री कृष्ण की जीवंत झाकियां सजाई गई। जिसे देखकर श्रद्घालु अभिभूत हो उठे।

भागवत का श्रवण जरूरी

कथा व्यास ने कहा कि जीव को जगदीश में समाहित करने के लिए भागवत का श्रवण जरूरी है। श्रीमदभागवत भवसागर से जीव को तारकर श्रीकृष्ण के विराट स्वरूप का दर्शन कराती है। भागवत को आत्मसात करने से ही भारतीय संस्कृति की रक्षा हो सकती है। वसुधैव कुटुंबकम की परिकल्पना भागवत को आत्मसात करने से ही साकार की जा सकती है। निष्काम कर्म, ज्ञान साधना, सिद्घि, भक्ति, अनुग्रह, मर्यादा, निर्गुण, सगुण व व्यक्त अव्यक्त रहस्यों से श्रीमदभागवत जीव का परिचय कराती है। उन्होंने सधो संत के लक्षणों से भी श्रद्घालुओं को अवगत कराते हुए कहा कि जिसकी शरण में जाने से शांति और सदमार्ग पर चलने की प्रेरणा मिलती है वही सधाा संत है। गुरु के चरण चिन्ह दहलीज पर लेना चाहिए। इससे सदगुणों के साथ-साथ लक्ष्मी का आगमन होता है। भगवान को कहीं खोजने की जरूरत नहीं, वह हम सब के हृदय में मौजूद हैं। अगर जरूरत है तो सिर्फ महसूस करने की और जिस दिन हमारा मन भगवान की सधाी भक्ति में लग जाएगा उसी दिन से हमें भगवान की उपस्थिति महसूस होने लगेगी।