अरी। नईदुनिया न्यूज

जनपद शिक्षा केन्द्र बरघाट व धारनाकलां के जनशिक्षकों के फरमान से विकासखण्ड के प्राइमरी व मिडिल स्कूल में पदस्थ शिक्षक व प्रधानपाठक हैरान हैं। गत दिवस सोशल मीडिया व्हाट्सअप पर जारी सूचना के आधार पर बरघाट जनपद सभाकक्ष में प्राइमरी व मिडिल स्कूल के प्रधान पाठकों व शिक्षकों को ब्लाक स्तरीय बैठक में अचानक शाला बंद कर बुला लिया गया।

जानकारी के मुताबिक कन्या बरघाट के जनशिक्षक मानसिंह मर्सकोले व धारनाकलां के जनशिक्षक शौर्य सिंह ने विकासखण्ड के सभी शिक्षकों को शिक्षकों को व्हाट्सअप ग्रुप में मैसेज जारी कर 11 जुलाई दोपहर 1ः30 बजे से बरघाट जनपद सभाकक्ष में आयोजित बैठक बुला लिया।

सूचना में बैठक को महत्वपूर्ण बताते हुए लिखा गया कि शिक्षक एमएस, एचएम व जिस स्कूल के एक शिक्षक दक्षता उन्नयन ट्रेनिंग में गए हैं वहां से एक शिक्षक होंगे वह बधाों को भोजन कराकर अन्य शिक्षक होने पर उन्हें बताकर या स्कूल बंद करके जनपद सभाकक्ष में तय समय पर पहुंचना सुनिश्चित करें। यहां शिक्षकों को अनिवार्य पत्र भी देना है। जनशिक्षकों ने मैसेज में इस बात का भी उल्लेख किया कि बैठक बीआरसी बरघाट की अनुपस्थिति में बीएसी बरघाट सुनील ठाकुर लेंगे।

जनशिक्षकों की कार्यप्रणाली को लेकर सवाल उठ रहा है कि जिम्मेदार कर्मचारी ही शिक्षकों को स्कूल बंद करके बैठक में आने की बात कहेंगे, तो स्कूलों का संचालन व अध्यापन कैसे हो रहा होगा। मैसेज के बाद कितने शिक्षक स्कूल बंद कर बैठक में उपस्थित हुए इसको लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। मामला सामने आने के बाद अब जनशिक्षक सफाई दे रहे हैं कि बैठक में कोई भी प्रधानपाठक या शिक्षक स्कूल बंद करके नहीं पहुंचा था। अन्य शिक्षक की व्यवस्था कर सभी लोग बैठक में शामिल हुए थे।