सिवनी। नईदुनिया प्रतिनिधि

जल संरक्षण के लिए जिले में विभिन्न काम किए जा रहे हैं। इसी के तहत जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत मुंडरई ने बारिश के पानी को गांव में ही रोकने व सोखने के लिए सरेखाटोला के पास नदी में स्थित पुलिया में डी नुमा वॉल बनाकर पानी को रोकने का काम किया है। कांक्रीट की डी नुमा वाल बनाए जाने से एक सप्ताह पहले जो बारिश हुई उसका पानी अभी तक नदी में नजर आ रहा है और नदी भरी हुई नजर आ रही है। इंजीनियर अरविंद डहरवाल के निर्देशन में पंचायत के सरपंच, सचिव द्वारा जल संरक्षण के लिए यह कार्य किया गया है।

ग्राम पंचायत यदि डीवाल का निर्माण नहीं करती तो शायद नदी में भरा हुआ बारिश का यह पानी सड़क की पुलिया से होते हुए बाहर बह जाता। इससे उस क्षेत्र का जल स्तर नहीं बढ़ता। ग्राम पंचायत मुण्डरई ने इस तरह की डी वॉल दो बनाई है जिसमें एक शांतिधाम के पास बनाई गई है। पहले पानी रोकने के लिए स्टापडेम में लोहे के गेट लगाए जाते थे लेकिन लोहे के वे गेट ज्यादा दिन तक नहीं रह पाते थे। चोर उन गेटों को चुरा ले जाते थे और फिर नदी-नालों का पानी गेट खुल जाने से बह जाता था लेकिन पंचायत ने डी नुमा वाल बनाकर चोरी के जंजाल को खत्म कर दिया है। इससे पानी उसी स्थान पर रूका भी रहेगा और सोखेगा भी।