Naidunia
    Saturday, February 24, 2018
    PreviousNext

    कथा समापन पंडित फारुख रामायणी का किया सम्मान

    Published: Thu, 15 Feb 2018 09:24 PM (IST) | Updated: Thu, 15 Feb 2018 09:24 PM (IST)
    By: Editorial Team

    अकोदिया। श्रीराम कथा के आखिरी दिन भगवान राम और केवट के संवाद को सुनाया गया। मां गंगा के तट पर भक्त और भगवान की मुलाकात की सुंदर व्याख्या की गई। बुधवार के दिन पांच दिवसीय श्रीराम कथा के समापन पर पंडित फारुक रामायणी का नगर की संस्थाओं द्वारा सम्मान किया गया। विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल, नगर विकास प्रस्फुटन समिति अयोध्या अकोदिया प्रेस परिषद एवं भाजपा के पदाधिकारियों द्वारा कथावाचक का सम्मान शॉल-श्रीफल से किया गया। श्री राम कथा के समापन पर रात्रि के दौरान भजन संध्या में साध्वी अनिता एवं नेहा दीदी द्वारा भजनों की प्रस्तुति दी गई। कथा आयोजकों का भी सम्मान किया गया। मुस्लिम कथा वाचक पंडित फारुख रामायणी द्वारा अकोदिया नगर में कथा करना सामाजिक सद्भावना की मिसाल बन गया। गैर राजनीतिक और बिना किसी संगठन के बैनर तले अपने उद्देश्य को पूरा कर गया।

    ---------------

    विश्वकर्मा भगवान की रथयात्रा धूमधाम से निकली

    अकोदिया। शिवरात्रि के दिन सृष्टि के निर्माण कर्ता भगवान विश्वकर्मा की रथयात्रा नगर के मुख्य मार्ग से निकली। रथ में भगवान विश्वकर्मा की अष्टधातु से निर्मित प्रतिमा के लोगों ने दर्शन किए। चित्रकूट से प्रारंभ होकर प्रदेश के सभी जिलो से यात्रा मंगलवार के दिन शाम को अकोदिया पहुंची। नागरिकों द्वारा स्वागत किया गया। वहीं टप्पा चौराहे पर कांग्रेस के लोगों ने स्वागत किया। यात्रा के दौरान शयाम विश्वकर्मा, किशनलाल, मुन्नालाल विश्वकर्मा, राजेंद्र विश्वकर्मा, रामदयाल विश्वकर्मा, भेरूलाल पांचाल, हेमंत गाजवा, बंशीलाल विश्वकर्मा, राजेंद्र पंचाल, महेश विश्वकर्मा, मोहन पांचाल, बंटी विश्वकर्मा, राहुल विश्वकर्मा, संतोष विश्वकर्मा, शंकरलाल पांचाल सहित समाजजन शामिल रहे।

    भोलेनाथ की शोभायात्रा निकली

    उगली। ग्राम में महाशिवरात्रि पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। श्री गणेश मंडल, श्री हनुमान मंडल, श्री राम भरोसे कन्या भोजन मंडल, श्री हनुमान मंडल इंदिरा आवास,श्री हनुमान मंदिर इलाही मंडल आदि द्वारा महाशिवरात्रि पर बाबा महाकाल की शोभायात्रा ग्राम के प्रमुख मार्गो से निकाली। यात्रा का समापन हनुमान मंदिर में हुआ। दोपहर में बाबा महाकाल का रुद्राभिषेक किया। इस दौरान बजरंगबली का श्रंगार किया गया। आरती के बाद प्रसाद वितरण किया गया। रात्रि 8 बजे श्री संकटमोचन भजन संध्या शुजालपुर के कलाकारों के द्वारा भजन संध्या की प्रस्तुति दी।

    और जानें :  # shajapur. adodiya. news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें