- इस बार 265 रुपए बोनस देकर 2 हजार रुपए क्विंटल से सरकारी खरीदी की संभावना

शाजापुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

समर्थन मूल्य पर गेहूं के दाम 2 हजार रुपए से कम नहीं रहने की सीएम की घोषणा के बाद पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या में एकाएक बढ़ोतरी हो गई है। सीएम की घोषणा के बाद बाजार में मिलने वाले गेहूं के दाम में भी इजाफा होने की संभावना बढ़ गई है। यदि ऐसा हुआ तो किसानों को तो लाभ होगा लेकिन मध्यमवर्गीय लोगों को महंगा गेहूं खरीदना होगा।

जिले में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी को मात्र एक माह शेष बचा हुआ है। 15 मार्च से लेकर 15 मई तक गेहूं की खरीदी की जाएगी। जिले में गेहूं खरीदी के लिए 41 केंद्र बनाए गए हैं। जहां पर किसानों के पंजीयन कराए जा रहे हैं। निर्देशों के अनुसार 15 फरवरी नए पंजीयन की अंतिम तारीख रखी गई लेकिन इस बीच पंजीयन कराने आने वालों की संख्या कम ही रही। अब पंजीयन के लिए आने वाले किसानों की संख्या में एकाएक इजाफा हो गया। जानकारी के अनुसार जिले के जिन केंद्रों पर दो-चार किसान आ रहे थे वहां अंतिम दिन तो 50 से 100 किसान तक पहुंचे। टंकी चौराहा स्थित सोसायटी पर दोपहर को अनेक किसान पंजीयन के लिए खड़े नजर आए। यहां एक ही दिन में करीब 100 आवेदन आ गए। पतोली सोसायटी का नजारा भी कुछ इसी तरह का दिखाई दिया। उल्लेखनीय है कि जिले में 27 हजार 67 किसान पहले से ही पंजीकृत हैं। वहीं अब तक करीब 1500 से ज्यादा किसानों ने और पंजीयन करा लिया है।

बाजार में बढ़े दाम

जंबूरी मैदान पर सीएम द्वारा घोषणा की गई कि किसानों से गेहूं की खरीदी 2 हजार रुपए प्रति क्विंटल से कम पर नहीं की जाएगी। इसके बाद किसानों में खुशी का माहौल है। दरअसल, केंद्र सरकार द्वारा 1735 रुपए प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य तय किया गया है। इसके बाद 12 फरवरी को सीएम की घोषणा के बाद 265 रुपए प्रति क्विंटल बोनस के मान से 2 हजार रुपए क्विंटल तक के दाम पर खरीदी होना तय है। हालांकि इस सबंध में अब तक निर्देश नहीं आए हैं। हालांकि संबंधित विभाग के अधिकारी घोषणा के बाद से ही तैयारियों में लगे हुए हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले साल 1625 रुपए प्रति क्विंटल की दर से गेहूं की खरीदी की गई थी।

आम ग्राहकों को महंगा मिलेगा

वर्तमान में गेहूं की फसल पककर तैयार होने की कगार पर है। जल्द ही यह बाजार में आएगी। अमूमन आम ग्राहक साल भर के गेहूं अप्रैल से लेकर मई माह तक खरीदकर उसे सुखाकर रखते हैं लेकिन इस दौरान चलने वाली समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी 2 हजार रुपए प्रति क्विंटल होगी तो आम ग्राहकों को भी दाम ज्यादा चुकाने पड़ सकते हैं।

----------