Naidunia
    Saturday, April 21, 2018
    PreviousNext

    अंसेबल हुई साइकल, जल्द ही होगा वितरण

    Published: Tue, 13 Mar 2018 08:29 PM (IST) | Updated: Tue, 13 Mar 2018 08:29 PM (IST)
    By: Editorial Team

    - फिलहाल कंपनी द्वारा शिक्षा विभाग को हैंडओवर किए जाने का इंतजार

    शाजापुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

    जिला मुख्यालय स्थित उत्कृ ष्ट स्कूल परिसर में इन दिनों नई साइकलों की लंबी कतार लगी हुई है। दरअसल ये साइकल शाजापुर ब्लॉक के बालक-बालिकाओं को वितरित की जाना है किंतु साइकल निर्माता कंपनी द्वारा शिक्षा विभाग को अब तक हैंडओवर नहीं की गईं। इसके चलते अभी ये साइकल बच्चों को नहीं दी जा सकती। शिक्षा विभाग का कहना है कि कंपनी के प्रतिनिधि जल्द ही शाजापुर आएंगे। प्रतिनिधि साइकल का परीक्षण करने के बाद शिक्षा विभाग को सौंपेंगे। इसके बाद शिक्षा विभाग बच्चों को इनका वितरण करेगा। इस कवायद में एक सप्ताह से अधिक समय लगने की संभावना जताई जा रही है।

    फरवरी माह में शाजापुर ब्लॉक के कक्षा 9 वीं के 1200 से अधिक साइकल के कलपुर्जे शाजापुर पहुंचे थे। इसके बाद से ही साइकल सप्लाय करने वाली कंपनी के कर्मचारी इन्हें असेंबल करने में लगे हैं। अब लगभग सभी साइकल असेंबल हो चुकी हैं। जिम्मेदारों का कहना है कि कंपनी द्वारा साइकल असेंबल कर दी गई हैं किंतु अभी हमें सौेंपी नहीं है। कंपनी द्वारा हैंडओवर करने के बाद विद्यार्थियों को साइकल वितरण किया जाएगा। अकेले शाजापुर ब्लॉक में कक्षा 9वीं के करीब 1300 बालक-बालिका साइकल के लिए पात्र हैं। 2 किमी या इससे अधिक सफर तय करके स्कूल आने वाले बच्चों को सरकार की ओर से निशुल्क साइकल दी जाती है किंतु योजना के तहत इस साल अब तक बच्चों को साइकल नहीं मिल पाई। इसके चलते जिले में पांच हजार से अधिक बच्चे पूरे शिक्षा सत्र में तमाम परेशानियां उठाकर स्कूल आने को मजबूर हैं। कई बच्चों ने यह सफर पैदल तय किया तो कई बच्चों ने सालभर किराए के वाहनों में सफर करके यह दूरी तय की। किराए के वाहन में आने से बच्चों के परिजन पर आर्थिक बोझ पड़ा।

    नियमों में बदलाव से भी हुई देरी

    योजना में इस साल नियमों में बदलाव किए गए हैं। नए नियमों से विद्यार्थियों को लाभ मिलेगा और पहले ज्यादा बच्चों को साइकल मिल सकेगी। योजना में किए गए बदलाव अनुसार पात्र बच्चों को चिन्हित करने के लिए जिले में विभिन्ना स्कूलों के आसपास दो किमी की दूरी के दायरे में आने वाले गांव या बसाहट जहां से छात्र पढ़ने के लिए आते है। ऐसी बसाहटों की शाला एवं ग्रामवार मैपिंग कराई गई। इस कार्य में काफी समय लगा। इसके कारण भी बच्चों को साइकल मिलने में देरी हुई।

    जिले में इतने बच्चे पात्र

    कक्षा 6ठी के 1016

    कक्षा 9वीं के 4170

    (आंकड़े अनुमानित)

    ----------

    जल्द मिलेंगी साइकल

    - शाजापुर ब्लॉक में कक्षा 9वीं में करीब 1300 बालक-बालिका साइकल योजना के तहत पात्र हैं। इन सभी बच्चों के लिए साइकल आ चुकी हैं। जैसे ही कंपनी शिक्षा विभाग को साइकल सौंपेगी। वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन अनुसार साइकल वितरण किया जाएगा। -शशिरेखा रजालू, प्राचार्य उत्कृष्ट स्कूल

    --------------

    और जानें :  # shajapur. cycle. news
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें