- कमरा सील कर चली गई पुलिस, नायब तहसीलदार को होता रहा इंतजार

- घटना के कवरेज को गए पत्रकारों से मारपीट

- ठुलमुल रवैया अपनाती रही पुलिस

- पिता ने जताई बेटी की हत्या की आशंका

शाजापुर। सुंदरसी थाना क्षेत्र में एक नवविवाहित की रविवार दोपहर में संदिग्ध मौत हो गई। मामले की सूचना सुंदरसी थाना पुलिस को सोमवार सुबह लगी। इस पर पुलिस मौके पर पहुंची और प्राथमिक जांच-पड़ताल कर कमरा सील कर दिया। मामले में आगामी कार्रवाई के लिए नायब तहसीलदार का इंतजार होता रहा। सोमवार दोपहर सीएम का कार्यक्रम संपन्ना होने के बाद अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच-पड़ताव के बाद शव पीएम के लिए जिला अस्पताल भेजा गया। तब जाकर मौत के करीब 30 घंटे बाद पीएम हो सका। इधर, मामले में कवरेज करने गए मीडियाकर्मियों से ससुराल पक्ष और ग्रामीणों ने मारपीट कर जानलेवा हमला कर दिया। पत्रकारों के कैमरे-मोबाइल तोड़ने के साथ नकदी भी लूट ली। मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज करने के बजाय घंटों तक पुलिस घायल पत्रकारों के बयान ही लेती रही।

मृतका के पिता मनोहर सिंह निवासी ग्राम ब्यावरा ने बताया कि पिछले साल उन्होंने बेटी रितु की शादी सुंदरसी निवासी बनेसिंह से की थी। शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष के लोग उसे प्रताड़ित करते थे। रितु कई बार उन्हें ससुराल वालों द्वारा दी जा रही प्रताड़ना के बारे में बता चुकी थी। आठ दिन पहले भी जमकर विवाद हुआ था। उसने इसकी जानकारी दी थी। इसके साथ ही दो-तीन पहले भी विवाद हुआ। रविवार रात के समय ससुराल पक्ष के लोग उनके घर पहुंचे और कहा की रितु की तबीयत खराब है। वह उनके साथ सुंदरसी आए तो देखा की बेटी की मौत हो गई है। ससुराल पक्ष के लोगों ने मामले में पुलिस को शिकायत नही करने का दबाव भी डाला किंतु वे नही माने और सोमवार सुबह सुंदरसी थाने पहुंचकर पुलिस को शिकायत की। इस पर सुंदरसी थाना में पदस्थ एसआई एएस चौधरी मौके पर पहुंचे और प्राथमिक जांच-पड़ताल कर शव रखे कमरे को सील कर आए। उन्होंने कहा कि मामले में प्रशासनिक अधिकारियों के आने के बाद आगे की कार्रवाई होगी। इधर, अधिकारी सीएम शिवराजसिंह के कार्यक्रम में ड्यूटी पर तैनात थे। इस कारण रविवार दोपहर को मौत होने के बाद भी सोमवार शाम तक शव मौके पर ही रखा रहा। सोमवार शाम करीब पांच बजे गुलाना नायब तहसीलदार जीएल राजौरिया व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल की। इसके बाद सोमवार शाम को शव जिला अस्पताल शाजापुर पहुंचा और रात के अंधेरे में पीएम हो सका।

मायका पक्ष दहशत में, अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं होगा

रितु के पिता मनोहर सिंह ने बताया कि वह काफी डरे हुए हैं। इस कारण वह बेटी के अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं होंगे। उन्होंने कहा कि ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा पत्रकारों के साथ मारपीट की गई। ऐसे में वह उन पर भी हमला कर सकते हैं। इस कारण वह व अन्य परिजन दहशत में हैं। उन्होंने पुलिस से मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है। साथ ही बेटी का गला घोंटकर हत्या किए जाने की आशंका जताई है।

कवरेज को गए मीडियाकर्मियों पर जानलेवा हमला

नवविवाहिता की संदिग्ध मौत के मामले में कवरेज करने गुलाना से सुंदरसी पहुंचे दो पत्रकारों से ससुराल पक्ष के साथ ही ग्रामीणों ने मारपीट कर दी। भीड़ ने उन पर पत्थर, लौहे की रॉड और लात-घूसों से हमला किया। जानलेवा हमले में घायल मीडियाकर्मियों को सुंदरसी अस्पताल में भर्ती किया गया है। यहां एसडीओपी आरएस अंब आदि ने बयान दर्ज किए। हालांकि मामले में सोमवार शाम तक एफआईआर दर्ज नही की गई थी। जानलेवा हमले में मीडियाकर्मी राकेश सौराष्ट्रीय और सुनिल बोयल निवासी गुलाना घायल हुए हैं। यह दोनों समाचार पत्रों के लिए कार्य करते हैं।

---------

सख्त कार्रवाई करेंगे

मीडियाकर्मियों पर हमला और नवविवाहिता की संदिग्ध मौत गंभीर मामला है। मामले की जांच की जा रही है। जिसकी भी भूमिका होगी। सख्त कार्रवाई करेंगे। -शैलेंद्रसिंह चौहान, एसपी