आगर-मालवा। गत 16 अप्रैल को आंधी-बारिश व मामूली ओलावृष्टि के दौरान आगर व आसपास के गांवों में बिजली लाइन के तार टूटने, विद्युत पोल क्षतिग्रस्त होने आदि से विद्युत प्रदाय बाधित होने की समस्या सामने आई थी, जिसे विद्युत वितरण कंपनी ने तत्काल प्रभावी रूप से सुधार कार्य करते हुए प्रदाय को बहाल कर दिया है।

कंपनी के अधीक्षण यंत्री आरसी जैन ने बताया कि 16 अप्रैल को आंधी के कारण कीटखेड़ी फीडर के ग्राम खेरिया में 11 केवी लाइन के तीन खंभे रात्रि में टूट गए थे। तीन खंभे हनुमान निपानिया में टूटे थे। जिन्हें विद्युत विभाग के सहायक यंत्रियों की उपस्थिति में लाइनमैन व कर्मचारियों द्वारा अगले दिन ही बदलकर विद्युत व्यवस्था को सुचारू रूप से चालू कर दिया गया। सहायक यंत्री पीयूष जैन ने बताया कि आगर शहर में त्वरित विद्युुत व्यवस्था लागू है जिसमें 2 घंटे से भी कम समय में प्रत्येक उपभोक्ता की शिकायत का निराकरण किया जा रहा है। आम उपभोक्ता 1912 पर भी कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

ट्रांसफार्मर मेंटेनेंस टीम का गठन

अधीक्षण यंत्री जैन ने विद्युत कंपनी द्वारा क्षेत्र में वितरण ट्रांसफॉर्मर में गड़बड़ी होने की शिकायतों को दूर करने के लिए आगर सर्किल के पूरे क्षेत्र में ट्रांसफॉर्मर मेंटेनेंस टीम का गठन किया है। प्रत्येक टीम में 4 व्यक्ति रहेंगे,। जो तुरंत समस्याओं का समाधान करेंगे। माह अप्रैल में विद्युत प्रदाय की स्थिति में निरंतर सुधार किया गया जिसके परिणाम स्वरूप आगर जिले में विद्युत खपत में 17.5 प्रतिशत की वृद्घि हुई।