रोजे का समय

शनिवार को इफ्तार का समय : शाम 07ः11 बजे

रविवार को शहरी खत्म समय : सुबह 04ः00 बजे

श्योपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रमजान माह के रोजे गुरुवार से शुरू हो गए हैं। रमजान शुरू होते ही मस्जिदों में भी नमाजियों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो गई हैं। शुक्रवार को रमजान के पहले जुमा पर नमाजियों की भारी भीड़ मस्जिदों में नमाज अदा करने पहुंची। अधिक भीड़ के आने से मस्जिद कमेटियों को मस्जिद के बाहर व छतों पर नमाज अदा करानी पड़ी।

वैसे तो मुसलमान रोजाना 5 वक्त की नमाज अदा करते हैं। इस नमाज में बस्ती के लोग पांच बार मस्जिद जाकर नमाज अदा करते हैं। जुमे की नमाज सप्ताह में बार ओर खास मस्जिदों में ही आयोजित की जाती है। इसलिए इस नमाज में अधिक लोग एकत्रित होते हैं। जामा मस्जिदों में आयोजित होने वाली जुमे की नमाज में वह लोग भी नमाज अदा करने पहुंचते हैं जो रोजाना नमाज नहीं पढ़ते हैं। रमजान माह में तो यह संख्या लगभग दोगुनी हो जाती हैं। मस्जिदों में नमाजियों की संख्या बढ़ जाने से कई मस्जिदों में टेंट लगाने की जरुरत पड़ी। जामा मस्जिद सब्जी मंडी में मस्जिद कमेटी ने मुसाफिर खाना की छत पर टेंट लगाकर नमाज अदा कराई। वक्फ कमेटी मिठ्ठेशाह ने जमात खाना पर बनी मस्जिद ने जगह कम पड़ने पर मैरिज हॉल में टेंट लगाकर नमाज पढ़वाई। मस्जिद हम्मालान में नमाजियों को नमाज अदा कराने के लिए छत पर बिछात की गई थी।

नमाज के बाद मौलाना का संदेश सुना टीवी पर

उधर बोहरा समाज ने शुक्रवार को चौथा रोजा रखा। शुक्रवार को जुमे की नमाज में सभी महिला व पुरुषों ने एक-साथ मस्जिद में पहुंचकर नमाज अदा की। दाऊदी बोहरा समाज के प्रवक्ता सिराज दाऊदी ने बताया कि, महिलाओं के नमाज अदा करने के लिए मस्जिद के ऊपरी तल पर व्यवस्था की गई थी। जमीन तल पर मर्दो व बच्चों ने नमाज अदा की। नमाज के बाद आमिल साहब ने विश्व शांति के लिए दुआं की। दुआं के बाद मस्जिद में लगी एलईडी के माध्यम मौलाना साहब का मुंबई से संदेश प्रसारित किया गया। ज्ञातव्य हो कि, शिया जमात दाऊदी बोहरा समाज के पूरे विश्व में मुंबई से धर्मगुरु के माध्यम से संदेश प्रसारित होते हैं।

फोटो :07

कैप्शन : पुल दरवाजा जमात खाना पर टेंट लगाकर नमाज अदा करते नमाजी