श्योपुर। नईदुनिया न्यूज

वार्ड क्रं. 23 की निचली बस्ती में शेर आने की अफवाह से बस्ती में लोग दहशत में हैं। इस बस्ती में रहने वाले लोग खेती-बाड़ी कर जीवन-यापन करते हैं। खेतों में ही बस्तीवासियों ने कोई जानवर देखा है, जिसे वह शेर बता रहे हैं।

नवलखा, तिलमिश्री महादेव मंदिर क्षेत्र जिसे गुलाबबाड़ी के नाम से जाना जाता है। यहां पर माली समाज के लोग नदी किनारे पर सब्जियां उगाने और बाजार में बेचने का काम करते हैं। यहीं पर किसी ने ऐसा जानवर देखा है, जो पहले कभी नहीं देखा गया। बस्तीवासियों में धीरे-धीरे अफवाह फैल गई कि बाड़ी में शेर आ गया है। विगत 2-3 दिनों से लोग डर के मारे रात में बाड़ियों में रखवाली करने नहीं जा रहे हैं। अधिकतर बाड़ियों में लोगों ने झोपड़ियां बनाई हुई हैं, जहां पर वह रात को सोते भी हैं। शेर की अफवाह से लोगों में दहशत व्याप्त हो गई है। बस्तीवासी मुन्नालाल सुमन ने बताया कि किले से लगे हुए क्षेत्र में जानवर को देखा गया है। ऐसा अनुमान है कि किले के रास्ते जंगल से जानवर आया है। जानवर के शरीर पर शेर की तरह धारियां हैं। कुछ लोग इसे टाइगर तो कुछ तेंदूआ बता रहे हैं। वन्यजीव विशेषज्ञ डॉ. सचिन उपाध्याय ने जानवर को हायना बताया है। उनका कहना है कि हायना बाघ की तरह दिखाई देता है। रात में दोनों में फर्क करना मुश्किल है। इसलिए बस्ती के लोग हायना को बाघ समझ रहे हैं। हायना का बस्ती के आसपास आ जाना आम बात है।