श्योपुर। धान की फसल में कीटनाशक का छिड़काव करने गए अलग-अलग जगहों पर दो किसानों की मौत हो गई। छिड़काव के दौरान ही दोनों की हालत बिगड़ गई। इलाज के लिए तत्काल जिला अस्पताल लाया गया, जहां एक की हालत गंभीर होने के कारण उसे रेफर कर दिया था, लेकिन आधे रास्ते में पहुंचते ही उसकी मौत हो गई।

दूसरे किसान को डॉक्टरों ने जिला अस्पताल में मृत घोषित कर दिया। दोनों घटनाएं बुधवार की हैं।

सोईकला निवासी रघुवीर (45) मुकेश माली के यहां धान की फसल में कीटनाशक दवा का छिड़काव करने गया था। तभी अचानक दवा उसके मुंह में आ गई और उसकी हालत बिगड़ गई।

घटना के तत्काल बाद रघुवीर को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक इलाज देकर उसे रेफर कर दिया था, लेकिन कुछ दूर जाकर उसकी मौत हो गई। दूसरा मामला बिजरपुर गांव का है। जहां कल्लाराम मीणा धान में दवा डालने गया था, लेकिन दोपहर के समय दवा डालते हुए उसकी हालत बिगड़ गई। बाद में जब उसके परिजन जिला अस्पताल लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।