अधूरे पीएम आवास में कराया ग्रह प्रवेश

पीएम आवास में, घटिया निर्माण के मामले आ रहे सामने

शिवपुरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

गरीब को पक्की मुहैया कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना शुरू की गई है, लेकिन इस योजना पर भी ग्रहण जिले में लग चुका है। कई नगर पंचायत क्षेत्रों में दूसरी किश्त जारी न होने से इनका निर्माण अधूरा पड़ा है। दूसरी ओर इन्हें ठेकेदारी प्रथा पर बनवाया जा रहा है, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में इनका निर्माण घटिया स्तर का हो रहा है। मंत्री से लेकर आला अधिकारियों के भ्रमण के दौरान सामने आ चुका है कि घटिया सामग्री बनाकर आधे अधूरे भवन बना दिए गए हैं। कहीं निर्माण के साथ ही छत दरक गई, कहीं हाथ लगाने से ही प्लास्टर झड़ रहा है। करीब एक लाख 20 हजार नकद किश्तों ग्रामीण क्षेत्र में तो शहरी क्षेत्र में 2 लाख 67 हजार रुपए मकान बनाने के लिए दिया जा रहा है। कई नगर पंचायत क्षेत्र में किश्त का आवंटन नहीं हुआ है।

आवास की किश्त के नाम पर सरपंच सचिव मांगते हैं रिश्वत

बात यदि ग्रामीण क्षेत्र की करें तो यहां सरपंच सचिव आवास बनवाने से लेकर आवास की राशि भी स्वीकृत करा रहे हैं, लेकिन वह हितग्राहियों से कमीशन ले रहे हैं। इस बात की पुष्टि जनसुनवाई सहित सीएम हेल्पलाइन में आए आवेदनों से हो रही है। जनसुनवाई में हितग्राही अधिकारियों को आवेदन दे रहे हैं, लेकिन उनके आवदनों पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

मंत्री के उदघाटन के समय आया घटिया निर्माण का मामला

खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने अपने दौरे के दौरान पीएम आवास का उद्घाटन किया था, लेकिन उसके घटिया निर्माण को लेकर मंत्री ने अपनी नाराजगी जाहिर की थी। जनपद सीईओ गगन वाजपेयी से पीएम आवास निर्माण सही तरीके से कराने के निर्देश दिए थे।

पंचायतों में सरपंच करा रहे ठेके पर निर्माण

हितग्राही अजमेरसिंह, राजेश, कलोलसिंह का कहना है कि उन्हें पीएम आवास स्वीकृत हुए थे, लेकिन सरपंच ने उन्हें जारी की गई राशि निकलवा ली। काम ठेके पर करा रहा है। गांव में 8 प्रधानमंत्री आवास बन रहे हैं, जिन्हें एक ही ठेकेदार बना रहा है। काम भी सही नहीं किया जा रहा है। इसकी शिकायत भी सरपंच से की।

आवास की दूसरी किश्त जारी करने मांगते हैं पैसे

इधर ग्राम पंचायतों में हाल बुरा है। यहां पीएम आवास की दूसरी किश्त जारी करने के नाम पर सचिव व सरपंच राशि हितग्राहियों से मांग रहे हैं। हितग्राही पंचमसिंह व ललीबाई का कहना है कि उन्हें पहली किश्त तो मिल गई, लेकिन दूसरी किश्त देने के ऐवज में 5-5 हजार रुपए की मांग की जा रही है।

कहां क्या स्थिति

शिवपुरी में अधूरे पड़े हैं प्रधानमंत्री आवास

शिवपुरी शहर की बात करें तो यहां 800 से अधिक प्रधानमंत्री आवास बनाए जा रहे हैं, लेकिन इनका निर्माण नपा द्वारा ठेकेदार से कराया जा रहा है, लेकिन नपा के पास बजट न होने से यह प्रधानमंत्री आवास अभी भी अधूरे हैं और लोग आवास के लिए नपा कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। यहां अभी तक हितग्राहियों को ग्र्रह प्रवेश भी नहीं कराया गया है। हितग्राहियों ने नपा को 20-20 हजार रुपए जमा कर दिए हैं, जबकि बाकी के पैसे के लिए इन्हें बैंक से लोन दिलाया जा रहा है, जिसके लिए नपा प्रयास कर रही है।

-

करैरा में 430 आवास हुए स्वीकृत, 20 का कराया ग्रह प्रवेश

करैरा नगर पंचायत द्वारा 430 प्रधानमंत्री स्वीकृत किए हैं। इनमें से 20 हितग्राहियों का ग्रह प्रवेश भी नगर पंचायत द्वारा करा दिया गया है। अधूरे प्रधानमंत्री आवास में जिन हितग्राहियों को ग्रह प्रवेश कराया उनमें भी बाथरूम नहीं बना है तो किचिन बनना बाकी है। मकान का प्लास्टर नहीं किया गया है। यहां 290 लोगों को पहली किश्त जारी हो गई है और एक एक लाख रुपए उन्हें मिल भी गए हैं, लेकिन काम धीमी गति से चल रहा है। 69 लोगों को दूसरी किश्त भी जारी हो गई है, लेकिन काम की गति धीमी है।

-

250 लोगों मिली किश्त, निर्माण अधूरा

बैराड़ नगर पंचायत में 430 लोगों को प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुए थे, लेकिन यहां 250 लोगों को पहली किश्त जारी कर दी गई है, जबकि दूसरी किश्त का बजट नगर परिषद के पास नहीं है, जिससे कई लोगों का निर्माण अधूरा है। यहां लोग अधूरे मकानों में रहने भी लगे हैं। किसी के मकान की छत नहीं डली तो उन्होंने तिरपाल डाल दी है। लोगों का कहना है कि किश्त जल्दी मिले, जिससे निर्माण पूरा हो सके।

-

यह बोले अधिकारी

नगर पालिका द्वारा शहरी क्षेत्र में पीएम आवास बनवाए जा रहे हैं। करीब 500 पीएम आवास का निर्माण लगभग पूरा हो चुका है। चूंकि हितग्राहियों ने 20-20 हजार रुपए जमा कराए थे, उन्हें लोन की व्यवस्था कराई जा रही है और जल्द ही लोन पास कराकर उन्हें पीएम आवास सौंप दिए जाएंगे।

गोबिंद भार्गव, सीएमओ नपा शिवपुरी।

-

नगर परिषद द्वारा 430 पीएम आवास बनाए जाने हैं। कई की दूसरी किश्त भी जारी हो गई हैं, जहां तक अधूरे निर्माण की बात है तो हम मॉनीटरिंग कर रहे हैं और जल्द ही निर्माण पूरा कराएंगे। यह बात सही है कि कई पीएम आवास में शौचालय, किचन का निर्माण होना है। कुछ में प्लास्टर भी कराया जाना हैं।

राजेन्द्र जैन, इंजीनियर नगर पंचायत करैरा

-

जहां तक जनपद क्षेत्र में पीएम आवास बनाए जा रहे हैं वह सही तरीके से बनाए जा रहे हैं फिर भी यदि सरपंच व सचिव ठेकेदारी प्रथा से उनका निर्माण घटिया करा रहे हैं तो हितग्राही शिकायत करें हम उस पर त्वरित कार्रवाई करेंगे।

गगन वाजपेयी, सीईओ जनपद पंचायत शिवपुरी।

1, 2 कैप्सन-पीएम आवास जिन पर नहीं हुआ प्लास्टर और न ही हुआ किचन व बाथरूम का निर्माण।