मऊरानीपुर (झांसी)। उत्तर प्रदेश सरकार की तमाम निर्देशों के बावजूद ओवरलोडिंग में अंकु श नहीं लग पा रहा है। परिवहन विभाग ओवरलोडिंग करवाकर धड़ल्ले से वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं। ओवरलोडिंग को लेकर प्रदेश सरकार काफी सख्त है। सरकार ने कि सी भी कीमत पर ओवरलोडिंग न होने की सख्त निर्देश भी परिवहन विभाग को जारी कि ए हैं, लेकि न निजी स्वार्थों के चलते सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ रही हैं। जिले में ओवरलोडिंग को लेकर कु छ खास नियम विभाग बनाए हुए हैं। मसलन अगर वाहन स्वामी मालदार हैं तो उसकी ओवरलोडिंग में भी कि सी तरह की दिक्कत नहीं आएगी। पिछले दिनों प्रशासन के अधिकारियों ने ओवरलोडिंग चेकि ंग अभियान चलाया था। जिसमें काफी गाड़ियां पकड़ ली। एक ट्रक चालक ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि परिवहन विभाग में कु छ खास लोग हैं। जो ओवरलोड ट्रक वालों से सेटिंग का काम करते हैं। इस पूरे मामले की शिकार वहीं ओवर लोड ट्रक होते हैं जो पैसे देने में असमर्थ हैं। अब सवाल उठता है कि नियम कानूनों को ताक पर रखकर इसी तरह खेल खेला जाए तो सरकार की ओवरलोडिंग चेकि ंग अभियान का क्या होगा। गौरतलब है कि जिले में बालू का अवैध खनन बड़े पैमाने पर हो रहा है। जिसके चलते कई ओवरलोड ट्रक पास कर दिए जाते हैं। ओवरलोडिग की शिकायतों को लेकर जब भी प्रशासन सख्त होता है तो प्रशासन के अधिकारियों को दिखाने के लिए ओवरलोडिंग चेकि ंग का अभियान चलाया जाता है। जिसमें सिर्फ छोटी मछलियां ही फस पाती हैं और बड़े मगरमच्छों को पहले से ही सूचित कर दिया जाता है।