शिवपुरी। जिले के अमोला थाने की अमोलपठा चौकी पर पदस्थ आरक्षक दीनदयाल डागौर अपने साथ दूसरे आरक्षक के साथ गुरुवार को गश्त पर थे। इसी दौरान बांसभिरा गांव में जुए का फड़ संचालित होने की सूचना लगी। बिना फोर्स के दोनों ही आरक्षक बांसभेरा गांव पहुंचे गए। जैसे ही आरक्षकों ने जुए के फड़ पर कार्रवाई की कोशिश की तो मकान मालिक भगवानसिंह परमार ने अपने तनी पुत्र व एक अन्य व्यक्ति के साथ मिलकर दोनों आरक्षकों को पकड़ लिया। मारपीट कर वर्दी फाड़ दी। किसी तरह बचकर दोनों आरक्षक चौकी पर पहुंचे। आरक्षक दीनदयाल डागौर की की रिपोर्ट पर आरोपित भगवानसिंह परमार, कुलदीप उर्फ पिंटू परमार, मोनू परमार, रिंकू परमार, नीटू परमार निवासी बांसभिरा के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपितों की पुलिस तलाश कर रही है।