शिवपुरी, नईदुनिया प्रतिनिधि। सेना की भर्ती देकर लौट रहे युवकों ने गुरुवार को फिर यात्री ट्रेनों में खासा हंगामा किया। गुना में चल रही भर्ती से लौट रहा एक युवक ट्रेन से गिरकर घायल हो गया। यह युवक गेट पर खड़े होकर पुड़िया खा रहा था, इसी दौरान हादसा हो गया। रेलवे सूत्रों ने बताया कि युवकों की टोली गोहद भिंड पैसेंजर ट्रेन में सवार थी।

जब ट्रेन बदरवास के दीगौद गांव के पास पहुंची तो गोहद भिंड का रहने वाला 22 वर्षीय उदित पुत्र नरेन्द्र पचौरी पाउच खाने गेट के पास खड़ा हो गया, तभी उसका संतुलन बिगड़ा और वह गिर गया। इससे उसके सिर में गंभीर चोट आई। आनन फानन में ट्रेन रोककर उसे बदरवास अस्पताल लाया गया, जहां प्राथमिक उपचार कर उसे ग्वालियर रेफर कर दिया।

इधर दूसरी ओर इंदौर से चंडीगढ़ चलने वाली ट्रेन में गुना से सवार होकर आ रहे युवकों ने हंगामा शुरू कर दिया। बदरवास से कोलारस के बीच 11 बार चेन पुलिंग कर ट्रेन रोकी। ट्रेन को रोकने के पीछे खेत में खड़े चने की फसल थी, जिसे युवकों ने उजाड़ दिया। स्टेशन मास्टर उमेश मिश्रा ने बताया कि रेल प्रबंधन ने कई बार ट्रेन को आगे बढ़ाने की कोशिश की, लेकिन कोलारस और बदरवास के बीच चेन पुलिंग के चलते ट्रेन को देरी से कोलारस और शिवपुरी आने में भी देरी हुई। उपद्रव के दौरान जैसे तैसे चंडीगढ़ एक्सप्रेस को शिवपुरी लाया गया। यहां भारी पुलिस बल तैनात था, इसके चलते यहां उत्पात नहीं हो सका।

पुलिस की निगरानी में बिके समोसे

गुरुवार को वर्दीधारी बड़ी संख्या में मौजूद थे। यहां चाय कैंटीन पर छात्र समोसे, कचौड़ी व अन्य सामान की लूटमार न कर लें, इसलिए पुलिस अपनी निगरानी में समोसे बिकवा रही थी। आलम यह था कि स्टेशन के टॉयलेट पर भी पुलिसकर्मी तैनात किए गए थे।

स्लीपर कोच कराए खाली

ट्रेन में मौजूद उत्पाती युवक स्लीपर कोच में भी सवार थे। इनमें बैठी युवतियों ने जब पुलिस से अनुरोध किया कि युवक शरारत कर रहे हैं तो स्लीपर कोच खाली करा लिए गए और उसके बाद यात्री गाड़ी आगे रवाना की गई।