Naidunia
    Monday, December 18, 2017
    PreviousNext

    बचकर रहें! टैटू का क्रेज दे रहा बीमारियों को इन्विटेशन

    Published: Fri, 08 Dec 2017 02:02 PM (IST) | Updated: Fri, 08 Dec 2017 02:13 PM (IST)
    By: Editorial Team
    tatoo craze indore news 2017128 141052 08 12 2017

    इंदौर, अभिलाषा सक्सेना। यंगस्टर्स में पिछले कुछ वर्षों में टैटू के लिए लगातार क्रेज बढ़ा है। अपनी फेवरेट सेलिब्रिटीज को फॉलो करने के चक्कर में और अपने लवर्स के नाम का टैटू बनवाने के फेर में यंगस्टर्स भूल जाते हैं कि वे गंभीर बीमारियों को न्योता दे रहे हैं।

    शहर के डॉक्टर्स का मानना है कि आज यंगस्टर्स टैटू को लेकर ज्यादा क्रेजी हो रहे हैं, लेकिन यह खतरनाक साबित हो सकता है। इससे न केवल रक्त संबंधी गंभीर बीमारियां जैसे एड्स, हेपेटाइटिस हो सकती हैं, बल्कि त्वचा संबंधी खतरनाक बीमारियां होने की आशंका भी है। स्किन एक्सपर्ट्स के अनुसार टैटू में उपयोग किए जाने वाले कुछ कलर्स शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। सबसे ज्यादा खतरनाक लाल रंग का टैटू होता है।

    ट्यूबरकुलोसिस की आशंका

    स्किन एक्सपर्ट डॉ. मीतेश अग्रवाल का कहना है वेस्टर्न कल्चर से इंस्पायर होकर यंगस्टर्स में पिछले कुछ सालों से टैटू का चलन काफी बढ़ गया है, लेकिन वे बेखबर हैं कि टैटू बनाने में इस्तेमाल किए जाने वाले कलर्स से त्वचा संबंधी ग्रेन्यूलोमा और कीलोइड जैसी गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। इसमें स्किन फूल जाती है। इसके अलावा इससे लेप्रोसी और ट्यूबरकुलोसिस जैसी खतरनाक बीमारियों की आशंका भी बढ़ जाती है।

    ज्यादा क्रेजी होना ठीक नहीं

    मनोचिकित्सकों का मानना है कि टैटू को लेकर हद से ज्यादा क्रेजी होना ठीक नहीं है। अधिकांश लोगों में टैटू के प्रति क्रेज उनका इम्पलसिव होना बताता है। मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. श्रीकांत रेड्डी के अनुसार लोग दूसरों को देखकर और अपने आसपास के माहौल से प्रभावित होकर वो काम करना चाहते हैं, जिसका ट्रेंड चल रहा हो, इसलिए बिना सोचे-समझे टैटू बनाने का निर्णय ले लेते हैं। इस तरह का क्रेज बॉर्डर पर्सनाल्टी डिसऑर्डर वाले लोगों में ज्यादा देखने को मिलता है।

    टैटू निकलवाना ज्यादा मुश्किल

    टैटू कम खर्च और कम समय में बनाए जा सकते हैं, लेकिन इसे निकलवाना बेहद कठिन है। मशीन से एक सेकंड में हजारों छेद कर टैटू बनाए जाते हैं, लेकिन निकलवाने में 12 से 15 सीटिंग देना होती हैं। एक स्क्वायर इंच टैटू निकलाने का खर्च 2000 रुपए तक आता है। यह सिर्फ लेजर ट्रीटमेंट से ही निकलता है और इसके बाद भी थोड़ा निशान रह ही जाता है।

    महीने में हर स्किन स्पेशलिस्ट के पास कम से कम 10 से 15 लोग टैटू निकलवाने आते हैं। पुलिस, सेना की परीक्षाओं में टैटू होने पर डिस्क्वालिफाई करने के कारण भी लोग टैटू रिमूव करवा रहे हैं। कई बार लोग प्रेमी या प्रेमिका का नाम टैटू में लिखवाते हैं, लेकिन अगर उनका रिश्ता टूट जाता है तो ये लोग बनवाए हुए टैटू को मिटवा लेते हैं।

    आंखों के आसपास टैटू बनवाना सबसे खतरनाक

    यंगस्टर्स शरीर के विभिन्न् भागों के साथ ही आंखों के आसपास टैटू बनवा रहे हैं, लेकिन यह सबसे ज्यादा खतरनाक है। आंखों के आसपास किसी भी तरह के कलर्स का उपयोग करना रिस्की है। इससें आंखों की रोशनी भी जा सकती है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें