अमावस्या के अवसर पर 17 मार्च को सिद्धार्थ लेक सिटी जिनालय में होगी विशेष पूजा-अर्चना

भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

भोपाल के बड़े बाबा के नाम से विख्यात भगवान मुनिसुव्रतनाथ की 17 मार्च को अमावस्या के अवसर पर विशेष पूजा-अर्चना की जाएगी। साथ ही स्वर्ण कलशों से भगवान मुनिसुव्रतनाथ की पद्मासन प्रतिमा का महामस्तकाभिषेक किया जाएगा।

मुख्य कार्यक्रम सिद्धार्थ लेक सिटी जिनालय में हर साल की तरह सुबह 7 बजे शुरू होगा। इस आयोजन में राजधानी के साथ ही प्रदेश के अन्य कई शहरों के जैन धर्मावलंबी भी महामस्तकाभिषेक करने शामिल होंगे। प्रवक्ता अंशुल जैन ने बताया कि प्रतिष्ठाचार्य बाल ब्रह्मचारी सुमित भैया एवं अनिल भैया के सानिध्य में भगवान मुनिसुव्रतनाथ का महामस्तकाभिषेक किया जाएगा। इसके बाद आचार्यश्री के चित्र के सामने दीप प्रज्वलित कर उनके 50वें स्वर्णदीक्षा संयम महोत्सव मनाया जाएगा। इस अवसर पर आचार्यश्री विद्यासागर महाराज के गुणों की वंदना करने विशेष पूजा-अर्चना शाम 7ः30 बजे से होगी। इसमें संगीतमय महाआरती एवं भजन संध्या का आयोजन भी किया जाएगा।

कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर बुधवार को मंदिर समिति द्वारा समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें अन्य शहरों से आने वाले धर्मावलंबियों के रहने, खाने व धार्मिक अनुष्ठान समेत अन्य बिंदुओं पर मंथन किया गया। बैठक में मंदिर समिति के अध्यक्ष राजेन्द्र सेठी, पंकज जैन, विमल जैन, राजेश नायक, आदित्य जैन समेत अन्य लोग मौजूृद रहे।