ग्वालियर। स्वाइन फ्लू का कहर तेजी से बढ़ रहा है। 44 दिन में 5 केस स्वाइन फ्लू पॉजीटिव मिले हैं, जबकि 13 दिन में 3 की मौत हो चुकी है। एक्सपर्ट की माने तो हाई वैरूलैंस वायरस होने पर ऐसा होता है। जिसमें वायरस तेजी से शरीर को नुकसान पहुंचाता है। स्थानीय स्वास्थ्य विभाग अब तक मामले को गंभीरता से नहीं ले रहा है। दिल्ली में इलाज करा रहे एक मरीज के परिजन लगातार टेमी फ्लू टेबलेट के लिए स्थानीय स्वास्थ्य विभाग से संपर्क कर रहे हैं, मगर अब तक दवा नहीं मिल सकी है। जबकि सर गंगाराम अस्पताल में मरीज स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पाया गया है।

6 फरवरी को बीएसएफ के डिप्टी कमांडेंट की सास को जयारोग्य अस्पताल में भर्ती किया गया था। डॉक्टरों के सेम्पल लेने के बाद परिजन मरीज को दिल्ली लेकर रवाना हो गए थे। 8 फरवरी को मरीज की रिपोर्ट पॉजीटिव आई थी। मरीज की डायबिटिज काफी बढ़ी हुई थी, एक्सरे में भी खराबी आई थी। महिला ने मंगलवार को दिल्ली में उपचार के दौरान दम तोड़ दिया है।

खास बात ये है कि स्थानीय स्वास्थ्य विभाग स्वाइन फ्लू के मरीजों का लगातार फॉलोअप नहीं ले रहा है, विशेष रूप से दिल्ली जाने वाले मरीजों की रिपोर्ट नहीं ली जा रही है। इसी वजह से बीते रोज महिला की मौत हुई, मगर सीएमएचओ को इसकी जानकारी बुधवार को लगी है।

मरीजों के परिजनों को नहीं मिल रही दवा

लाला के बाजार निवासी 40 वर्षीय महिला दिल्ली के सर गंगाराम अस्पताल में स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पाई गई है। परिजन पिछले करीब 4 दिन से सीएमएचओ से संपर्क कर रहे हैं। इसके बाद भी उनको टेमी फ्लू टेबलेट नहीं दी जा रही है। परिजनों के मुताबिक एक स्थानीय चिकित्सक को रिपोर्ट दिखाई तो स्वाइन फ्लू पॉजीटिव बताया है। जबकि सीएमएचओ से दवा के लिए संपर्क किया तो उन्होंने संबंधित डॉक्टर से ही दवाई लेने की नसीहत दे दी है।

एक महिला दिल्ली रेफर

स्वाइन फ्लू के तीन संदिग्ध केस बीते रोज अस्पताल पहुंचे थे। इनमें एक मरीज बिडला जबकि दो जेएएच में भर्ती थे। 70 वर्षीय महिला का बीपी कम था, इसलिए परिजन उसे दिल्ली रेफर कराकर ले गए हैं। जबकि बाकी दो मरीज अभी ग्वालियर में ही भर्ती हैं। इनमें से किसी भी मरीज की रिपोर्ट अभी नहीं आई है। एक मरीज का सेम्पल बिडला अस्पताल से जांच के लिए डीआरडीओ भेजा गया है।

स्वाइन फ्लू से कब कैसे हुई मौत

-1 फरवरी को कोटेश्वर तिराहा निवासी 30 वर्षीय महिला की मौत

-8 फरवरी को गुड़ी गुड़ा नाका निवासी 49 वर्षीय युवक की मौत

-12 फरवरी को बीएसएफ के डिप्टी कमांडेट की सास की मौत

ये बरतें सावधानियां

-सर्दी जुकाम होने पर तत्काल डॉक्टर से चेकअप कराएं।

-भीड़ वाले इलाके में जाने से बचें।

-ट्रेन, बस में बहुत जरूरत होने पर ही सफर करें।

-मॉस्क का प्रयोग करें।

4 केस सरकारी रिकॉर्ड में पॉजीटिव, मरीज 5

सरकारी रिकार्ड में भले ही अब तक 4 स्वाइन फ्लू पॉजीटिव केस हो, मगर हकीकत में 5 मरीज स्वाइन फ्लू पॉजीटिव सामने आ चुके हैं। लाला के बाजार निवासी महिला भी दिल्ली में जांच में स्वाइन फ्लू पॉजीटिव पाई गई है, हालांकि सरकारी रिकार्ड में उसे शामिल नहीं किया गया है। इसी वजह से परिजनों को टेमी फ्लू टेबलेट तक नहीं मिल सकी है।

इनका कहना है

बीएसएफ से जो महिला मरीज दिल्ली रेफर हुई थी, उसकी बीते रोज मौत हो गई है। हम स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। टीम ने परिजनों को टेमी फ्लू टेबलेट उपलब्ध करवा दी है।

-डॉ मृदुल सक्सेना, सीएमएचओ