जबलपुर। जीवन दायिनी नर्मदा नदी को पार करने 3 जगह 'झूला पुल बनाने की योजना तैयार हो गई है। पीडब्ल्यूडी और नगर निगम ने लम्हेटाघाट, सरस्वतीघाट और ग्वारीघाट की जमीन का सर्वे करा लिया है। यह तीनों झूला पुल बनाने में लागत करीब 150 करोड़ (डेढ़ अरब) का खर्च होना बताया गया है। अब 16 फरवरी को जबलपुर में कैबिनेट बैठक में हिस्सा लेने आए प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा नर्मदा पर झूला पुल बनाने के कार्यों का भूमिपूजन भी किया जा सकता है।

लोक निर्माण विभाग (सेतु) और नगर निगम ने नर्मदा नदी पर झूला पुल बनाने के प्रस्ताव से जिला प्रशासन को अवगत करा दिया है। इसमें पीडब्ल्यूडी ने बताया है कि लम्हेटाघाट- लम्हेटी (शनि मंदिर) के बीच झूला पुल बनाने पर 46 करोड़ के आस-पास खर्च आएगा। इसी तरह भेड़ाघाट के सरस्वतीघाट से ग्राम ग्वारी के बीच झूला पुल बनाने पर 25 करोड़ रुपए खर्च होंगे। यह झूला पुल बनाने के लिए कलकत्ता की एक कम्पनी का नाम भी बताया गया है, जो कि पहले भी इस जिले में निर्माणकार्य कर चुकी है।

इनका कहना है

लम्हेटाघाट, सरस्वतीघाट, ग्वारीघाट में झूला पुल बनाना ही सबसे उपयुक्त लग रहा है। यह पुल बनने के बाद नर्मदा नदी की सुंदरता देखने वाले पर्यटकों की संख्या और भी बढ़ जाएगी।

- दिनेश कौरव, ईई, पीडब्ल्यूडी, जबलपुर

आकर्षक होगा ग्वारीघाट का झूला पुल

वहीं नगर निगम प्रशासन ने ग्वारीघाट में झूला पुल बनाने जमीन का सर्वे कराया है। इसके साथ ही झूला पुल बनाने की अनुमानित लागत, उपलब्ध जमीन की स्थिति, डिजाइन और इसकी उपयोगिता आदि को अपने प्रस्ताव में शामिल किया है। इस झूला पुल को आकर्षक बनाने के लिए इसपर अनुामनित खर्च 75 करोड़ रुपए होना बताया गया है।

और स्मार्ट हो जाएगा शहर

स्मार्ट सिटी जबलपुर में विभिन्न विकास कार्य जारी हैं। शहर की सड़कों को स्मार्ट बनाने के साथ नागरिकों को रोजाना कई संदेश देकर स्मार्ट बनाने की कोशिशें भी चल रहीं हैं। इसलिए शासकीय विभागों के अधिकारी इसमें अपना योगदान देकर जबलपुर की तस्वीर को बदलना चाहते हैं। इसलिए अधिकारियों ने झूला पुलों के निर्माण को प्राथमिकता दी है।

आने-जाने लेंगे अनुमति

पवित्र नर्मदा पर बननेवाले झूला पुलों पर नागरिक सिर्फ पैदल आवाजाही ही करेंगे। छोटे-बड़े सभी प्रकार के वाहनों की इन पुलों पर आवाजाही नहीं होगी। फिर भी जरूरतमंद नागरिक प्रशासनिक अनुमति लेकर अपने छोटे वाहन सहित इन पुलों से आवाजाही कर सकेंगे।