टीकमगढ़। नईदुनिया न्यूज

निवाड़ी को जिला बनाए जाने की प्रक्रिया पर शहर के लोग जमकर विरोध जता रहे हैं। शुक्रवार को 4 हजार लोगों ने अपने हस्ताक्षर किए और सभी ने कहा कि निवाड़ी को जिला नहीं बनाया जाए। लोगों की भावनाओं से खिलवाड़ किसी भी प्रकार से बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए चाहे लोगों को किसी भी स्तर तक जाकर विरोध दर्ज क्यों न कराना पड़े।

छठवें दिन वीर शिवाजी छात्र संघ के पदाधिकारियों ने शुक्रवार को शहर मुख्यालय पर हस्ताक्षर अभियान चलाया। जो सुबह से लेकर शाम तक चलता रहा। शहर के स्टैट बैंक चौराहा, मजदूर चौराहा, गांधी चौराहा और अन्य जगहों पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों एवं स्थानीय लोगों से भी हस्ताक्षर कराए। छटवें दिन 4 हजार से अधिक हस्ताक्षर कराए गए हैं। सभी लोगों ने निवाडी को जिला बनाए जाने का विरोध किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने एकजुट होकर शहर की मुख्य सड़कों, चौराहों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर यह अभियान चलाया। जहां पहुंचकर कार्यकर्ताओं ने दुकानदारों और स्थानीय लोगों से दस्तखत कराए। वहीं सभी कार्यकर्ताओं ने निवाड़ी जिला न बनने की प्रशासन से मांग उठाई। साथ ही सभी ने निवाड़ी को जिला बनाए जाने का पूरजोर विरोध किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि निवाड़ी को जिला नहीं बनाया जाना चाहिए। इससे टीकमगढ़ का विकास पिछड़ जाएगा। वहीं ओरछा धाम के अलग होने से लोग भी काफी दुखी होंगे। लोगों की भावनाओं को सरकार स्तर पर ध्यान में रखा जाना चाहिए। निजी फायदे के लिए निवाड़ी को जिला किसी भी हाल में नहीं बनाया जाए।

कार्यकर्ताओं ने कहा कि सभी हस्ताक्षर प्रदेश सरकार के समक्ष भेजे जाएंगे। ताकि निवाड़ी को जिला नहीं बनाया जाए। यह हस्ताक्षर अभियान 10 दिवसीय रहेगा। निवाड़ी को जिला बनाया जाना किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं है। यह आंदोलन लगातार ऐसे ही बढ़ता रहेगा। इस मौके पर जिला प्रभारी प्रवीण चौधरी, जिला उपाध्यक्ष अविनाश देशमुख, नगर अध्यक्ष सुरेंद्र भोले चौरसिया, मोनू दीक्षित, वि कास अहिरवार, अंशुल नायक, आनंद सिंह गौर, आशुतोष चौहान, संघर्ष बड़कुल, अभिषेक जैन, प्रियांशु गुप्ता, अमित खटीक, सौरभ विश्वकर्मा, प्रमोद जैन, देव तिवारी, आशु खटीक, आकाश साहू, सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

हम से अलग नहीं किया जाए ओरछा धाम

श्रीराम सत्संग परिवार द्वारा भी शहर में जमकर विरोध जताया जा रहा है। परिवार के सदस्यों द्वारा ओरछा बचाओ हस्ताक्षर अभियान निरंतर चलाया जा रहा है। सदस्यों का कहना है कि श्रीरामराजा सरकार की सभी लोग प्रजा हैं, इससे लोगों को ओरछा धाम से किसी भी प्रकार से अलग नहीं किया जाए। सदस्यों ने कहा कि किसी भी हाल में निवाड़ी को जिला नहीं बनाया जाना चाहिए। ओरछा धाम में श्रीरामराजा सरकार विराजमान हैं, वे सभी के राजा हैं, इससे सभी लोगों की भावनाओं को शासन स्तर पर ध्यान जरूर रखा जाना चाहिए। ओरछा हमारी आस्था का भी केंद्र है। इस केंद्र को ऐसे ही बने रहने देना चाहिए।