बम्हौरीकलां। नईदुनिया न्यूज

ग्राम पंचायत बम्हौरीकलां में स्वच्छता अभियान पूरी तरह फेल है। गांव में मुख्य मार्गों से लेकर 20 वार्डों में गंदगी और कचरे का अंबार लगा हुआ है। लेकिन इस ओर सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक का कोई ध्यान नहीं है। स्थिति यह है कि पूरे गांव में लोग कचरा और गंदगी से परेशान हैं। गांव में बस स्टैंड पर भी जगह जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। जिनकी सफाई पिछले कई माह से नहीं की गई है। जबकि देश भर में स्वच्छता अभियान को लेकर जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी अभियान को सफल बनाने में जुटे हैं। लेकिन पूरे बम्हौरीकलां गांव में सरपंच, सचिव और क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते गांव में कचरे के ढेर जगह जगह जमा है। स्थानीय लोगों ने कई बार सरपंच और अधिकारियों से गांव में फैले कचरे की समस्या को लेकर शिकवा-शिकायतें की हैं, लेकिन अभी तक किसी भी अधिकारी द्वारा स्वच्छता अभियान पर ध्यान नहीं दिया गया है। स्थिति यह है कि पूरे गांव में बच्चे, महिलाएं और पुरुष कचरे की समस्या से परेशान हैं। ग्रामीण सुरेश रजक, नत्थू खान, पुष्पेन्द्र, कमलेश ने बताया कि गांव में स्वच्छता अभियान को लेकर किसी का कोई ध्यान नहीं है। वार्ड एक से लेकर 20 तक जगह जगह कचरा और गंदगी फैले पड़े हैं। सड़क किनारे नालियां भी कचरे से चॉक हो गई हैं। नगर के बस स्टैंड मुख्य मार्ग, स्कूल मार्ग, मुख्य बस्ती, आदिवासी बस्ती, मुख्य बाजार सहित अन्य जगहों पर बड़े पैमाने पर कचरे के ढेर लोगों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से तत्काल मामले में कार्रवाई की मांग की है।

जल्द कराई जाएगी साफ-सफाई

सरपंच कंचनदेवी श्यामलाल अहिरवार का कहना है कि गांव में गंदगी और कचरे की समस्या को लेकर प्रयास किए जा रहे हैं। यदि कहीं ज्यादा समस्या है तो इसके लिए वहां जल्द ही सफाई करने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।