भोपाल। नवदुनिया प्रतिनिधि

मिसरोद में जिला प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए दो मकानों की बाउंड्रीवाल तोड़ी। प्राप्त जानकारी के अनुसार मिसरोद के खसरा क्रमांक 204 की 51 डेसीमल भूमि खसरा रिकार्ड में शासकीय रास्ते पर दर्ज हैं। जिस पर अतिक्रमण होने की शिकायत के चलते तहसील कार्यालय द्वारा इसकी जांच की गई थी। जिसमें यह भूमि शासकीय रास्ता दर्ज पाई गई हैं। यह रास्ता होशंगाबाद रोड से कोरल कॉटेज कॉलोनी को जाता हैं। आरटीआई कार्यकर्ता अजय पाटीदार का कहना है कि प्रशासन कोरल कॉलोनी के बिल्डर के दबाब में काम कर रहा हैं। तहसीलदार संध्या चतुर्वेदी इस अतिक्रमण केा हटाने के लिए मंगलवार को भी मौके पर गई थी। लेकिन ग्रामीणों के विरोध के चलते कार्रवाई नहीं की गई थी। बुधवार केा जिला प्रशासन के अमले ने भारी संख्या में पुलिस बल की मौजूदगी में बाउंड्रीवाल हटाई गई।

रास्ते को लेकर हमें कोई आपत्ति नहीं हैं। लेकिन जिस जगह को रास्ता बताकर हमारी बाउंड्रीवाल तोड़ी गई हैं वह हमारी निजी भूमि हैं। जो खसरा क्रमांक 206/2/क हैं जिसका भूमि मैं हूं।

मनोहर पाटीदार, मिसरोद

शाम 5 बजे माननीय व्यवहार में प्रचलित प्रकरण में प्राप्त निर्देश में मनोहर पाटीदार की अतिक्रमण हटवाने की कार्यवाही स्थगित की गई।बाकी लोगों ने अवध नरायण के द्वारा निर्मित बाउंड्रीवाल को हटाया गया। दो दिन में शेड स्वयं हटाने के आवेदन पर कार्रवाई रोक दी गई हैं। नहीं हटाने पर दो दिन बाद फिर से कार्रवाई की जाएगी।

संध्या चतुर्वेदी, तहासीलदार एमपी नगर