इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ट्विंकल डागरे हत्याकांड के आरोपित भाजपा नेता जगदीश करोतिया ने बताया कि ट्विंकल के गुम होने के एक दिन पहले दोनों ने शादी करने का फैसला ले लिया था। 15 अक्टूबर को दोनों ने घर बसाने का फैसला ले लिया। इस वजह से घटना वाले दिन यानी 16 अक्टूबर को ट्विंकल घर से मेहंदी लगाकर, बिछिया पहने और गले में पैंडल पहनकर निकली थी। बेटी को इस हालत में देखकर मां को शंका हुई थी। उसने सुहागन के कपड़े पहनने का कारण पूछा था। इस पर ट्विंकल ने बताया था कि दो दिन बाद करवाचौथ है। उसका मंगेतर अमित (जिससे उसकी सगाई हुई थी) बदनावर से मिलने आना वाला है। यह कहकर वह सुबह 11 बजे घर से निकल गई थी।

पुलिस को जानकारी मिली है कि ट्विंकल को जलाने के लिए जो कचरा डलवाया गया था, उस मामले में निगम का दरोगा राकेश तांगोरिया शामिल था। दरोगा करोतिया का रिश्तेदार है। करोतिया के साले और भाई पर सबूत मिटाने का शक है। पुलिस तीनों की भूमिका की जांच कर रही है। उधर, ट्विंकल के पिता संजय का आरोप है कि वारदात में करोतिया का भाई संजय उर्फ बब्बू पहलवान भी शामिल है। उसने गुमशुदगी का केस दर्ज करने के बाद धमकाया था, जबकि शिकायत में किसी पर भी आरोप नहीं लगाया गया था।

करोतिया की पत्नी और बहू पर भी मारपीट का आरोप

पुलिस ने रविवार को घटनास्थल पर सर्चिंग की। पुलिस के मुताबिक ट्विंकल को नीलेश कश्यप के खेत में मारा गया, जबकि उसके माता-पिता का आरोप है कि बेटी को घर पर मारा गया था। पुलिस खेत में हत्या करने की जानकारी गलत बता रही है ताकि करोतिया के परिवार की महिलाओं को बचाया जा सके। पिता संजय का आरोप है कि बेटी से अजय की पत्नी सिमरन और जगदीश करोतिया की पत्नी बसंती ने भी मारपीट की थी। घटना के दिन भी बेटी के साथ मारपीट की थी। पहले भी कई बार दोनों महिलाएं उससे मारपीट चुकी थीं। इन्हें बचाने के लिए आरोपित घटनास्थल गलत बता रहे हैं।

कई बार हुआ दुष्कर्म

पुलिस के मुताबिक करोतिया ट्विंकल को फ्लैट दिलाने के लिए बाणगंगा इलाके में ले गया था। उस दौरान करोतिया के बेटों ने दोनों का पीछा किया था लेकिन किसी कारणवश योजना फेल गई थी। माता-पिता का आरोप है कि बेटी की मौत के बाद पुलिस गलत जानकारी बता रही है। दोनों के बीच के संबंध को लेकर पुलिस भ्रमित कर रही है। बेटी के साथ कई बार दुष्कर्म हुआ था जबकि पुलिस ज्यादती की बातें छुपा रही है।

कांग्रेस नेता, सहेली और करोतिया के बेटे अजय से की थी बात

हत्या के मामले में पुलिस की कारवाई में एक बात सामने आई है। मोबाइल की जांच में जो कॉपी हाई कोर्ट भेजी गई थी, उसमें ट्विंकल के मोबाइल से तीन लोगों से बात की गई थी। इनमें कांग्रेस नेता सन्नाी पठारे, सहेली मेघा और अजय के मैसेज थे। तीनों के साथ ट्विंकल की अलग-अलग चैटिंग थी। उसमें वह अपने कारण परिवार के तनाव में होने की बात कर रही थी। इसमें घर छोड़ने की काफी देर चर्चा की गई है। उसने एक मैसेज में यह भी लिखा था कि अब उसका दुनिया छोड़कर जाने का मन है। फिलहाल उक्त कॉपी करोतिया के परिवार के पास भी है। पुलिस के मुताबिक जगदीश करोतिया को सोमवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। उसके बेटे अजय, विजय, विनय और साथी नीलू उर्फ नीलेश कश्यप को 16 जनवरी को कोर्ट में पेश किया जाएगा। जगदीश की तबीयत खराब होने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इनाम के पहले विभागीय जांच जरूरी

पूरे मामले में खुलासा होने के बाद इनाम की बात हो रही है लेकिन इनाम के पहले कुछ पुलिसकर्मियों के लिए डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र विभागीय जांच करने की बात कर रहे हैं। तकनीकी सबूतों में पुलिस ने काफी लापरवाही बरती है।