इंदौर, नईदुनिया प्रतिनिधि। टि्वंकल डागरे हत्याकांड में पूछताछ में नए खुलासे हुए हैं। आरोपित भाजपा नेता जगदीश करोतिया उर्फ कल्लू पहलवान ने दोनों के बीच संबंध होने की बात कबूल की है लेकिन इसकी शुरुआत दुष्कर्म से हुई थी। टि्वंकल करोतिया के साथ रहती थी। वह उसके साथ कार में घूमती थी। घटना की शुरुआत चार वर्ष पहले अप्रैल से हुई थी। करोतिया टि्वंकल को घुमाने के बहाने छप्पन दुकान स्थित मिठाई की दुकान पर ले गया। वहां उसे नशीला पदार्थ मिलाकर शिकंजी पिलाई। इसके बाद विजय नगर स्थित रेस्त्रां में खाना खिलाया। नशे का असर होते ही आरोपित उसे दिलीप सिंह कॉलोनी स्थित फ्लैट में ले गया और ज्यादती की।

होश में आने के बाद टि्वंकल को घटना का पता चला तो वह रोने लगी। इस पर करोतिया ने उसे जान से मारने की धमकी दी। फिर रात डेढ़ बजे उसकी बुआ शकुंतला के पास छोड़ दिया। सदमे में टि्वंकल कई दिनों तक गुमसुम रही। मां रीता और बहन मानसी ने उससे पूछा तो बताया कि करोतिया ने दुष्कर्म किया है। आरोपित के डर से परिवार ने घटना का विरोध नहीं किया। कुछ दिनों बाद टि्वंकल ने घटना को लेकर विरोध किया। इस पर आरोपित ने उसे शादी का झांसा देकर मना लिया। इसके बाद उसने कई बार संबंध बनाए।

सीएम कमलनाथ ने कहा कि इस मामले में किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। दो साल तक इस मामले में जांच क्यों नहीं की गई। इसकी जांच में कौन-कौन अधिकारी शामिल थे इसकी भी जांच की जाएगी। सीएम ने कहा कि महिला सुरक्षा को लेकर मप्र में कोई कोताही नहीं बरती जाएगी।

पिता-पुत्र को अस्पताल लाई पुलिस

बाणगंगा पुलिस रविवार को करोतिया और उसके बेटे विजय को एमवाय अस्पताल लेकर आई। बताया गया कि जगदीश और उसके बेटे विजय की रात से तबीयत बिगड़ रही है। डॉक्टरों ने उसे दवा दी तो विजय वहां उल्टियां करने लगा। जगदीश ने बताया कि उन लोगों ने टि्वंकल को नहीं मारा, उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। उनके पास जो सबूत है वे कोर्ट में दिखाएंगे, जबकि पुलिस की पूछताछ के बाद आरोपितों के कई अहम जानकारियां दी है।

पुलिस ने दोहराया घटनाक्रम

पुलिस रविवार को आरोपितों को लेकर घटनास्थल पर गई जहां पूरा घटनाक्रम दोहराया गया। यह भी पता चला है कि आरोपित पहले भी एक बार टि्वंकल की हत्या का षड्यंत्र रच चुके हैं। टि्वंकल के माता-पिता का आरोप है कि पुलिस पूरे घटनाक्रम को तोड़-मरोड़ करके पेश कर रही है।