बसंत पंचमी : वासंती रंग में रंगी धर्मनगरी, पुष्टिमार्गीय वैष्ण मंदिरों में फाग उत्सव शुरू

उज्जैन। बसंत पंचमी पर ऋतुराज के स्वागत में धर्म नगरी उज्जयिनी वासंती रंग में रंगी नजर आई। तड़के 4 बजे भस्म आरती के बाद सुबह भोग तथा शाम को संध्या आरती में पुजारियों ने राजाधिराज भगवान महाकाल को गुलाल तथा वसंत अर्पित किया। पुष्टीगार्गीय वैष्ण मंदिरों में राजभोग में भक्ति का गुलाल उड़ा। अबूझ मुहूर्त में शहनाई की गूंज भी सुनाई दी। नवयुगलों के जीवन में बसंत बहार लेकर आया।

ठाकुरजी संग खेलेंगे होली

ढाबा रोड स्थित श्रीनाथजी की हवेली, महाप्रभुजी की बैठक सहित शहर के सभी पुष्टिमार्गीय वैष्णव मंदिरों में राजभोग में ठाकुरजी को गुलाल अर्पित की। इसके साथ ही 40 दिवसीय फाग उत्सव का शुभारंभ हुआ।

गोपालजी को बसंत अर्पित

प्रसिद्ध गोपाल मंदिर में बसंत पंचमी पर भगवान को पीतांबर धारण करवाया गया। वसंत अर्पित कर आरती की गई।

स्याही से अभिषेक

सिंहपुरी स्थित प्राचीन सरस्वती मंदिर में देवी का भक्तों ने स्याही से अभिषेक कर बसंत के पीले फूलों से पूजा-अर्चना की।

फलौदी शोभा यात्रा

मेढ़तवाल वैश्य समाज द्वारा बसंत पंचमी पर माता फलौदी की भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी। तीन बत्ती चौराहा स्थित समाज की धर्मशाला से निकली शोभा यात्रा में बैंड-बाजों, हाथी, घोड़े के साथ समाज की महिलाएं सिर पर मंगल कलश लेकर निकलीं।